कुआलालंपुर: फिल्म अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा भले ही आज सबसे ज्यादा मांग में रहने वाली कलाकार हैं, लेकिन उनका कहना है कि आज से 10 साल पहले जब उन्होंने फिल्मों में आने का मन बनाया था तो उनका रूढ़िवादी पंजाबी परिवार इसके लिए राजी नहीं था। प्रियंका (32) ने बताया कि उनका परिवार शुरुआत में उनके फिल्मों में काम करने को लेकर सख्त था। यह भी पढ़े:Dil Dhadakne Do Movie Review: फुल पैसा वसूल एंटरटेनमेंट

इंटरनेशनल इंडियन फिल्म एकेडमी (आईफा) अवॉर्डस के दौरान अपने आने वाली फिल्म ‘दिल धड़कने दो’ की स्क्रीनिंग के बाद बातचीत में प्रियंका ने बताया, “मैं एक रूढ़िवादी पंजाबी परिवार से आती हूं। जब मैं फिल्मों में आई थी, तो वे काफी नाराज थे। लेकिन बाद में मेरे माता-पिता ने मेरा साथ दिया और मुझे वह सब करने दिया, जो मैं करना चाहती थी।”

प्रियंका ने कहा कि ‘दिल धड़कने दो’ में उनका किरदार आयशा भारतीय महिलाओं का प्रतिनिधित्व करता है। उन्होंने कहा, “लड़कियों को बंदिशों में रखा जाता है..आप क्या हैं और क्या चाहते हैं इससे किसी को फर्क नहीं पड़ता।”