बॉबी 1990 के दशक में ‘गुप्त : द हिडेन ट्रथ’, ‘सोल्जर’ और ‘अजनबी’ जैसी सफल फिल्मों में अभिनय कर चुके हैं. लेकिन उन्होंने ‘शाकालाका बूम बूम’ के साथ कई असफल फिल्में भी की हैं. बड़े पर्दे पर वह आखिरी बार 2013 में ‘यमला पगला दीवाना 2’ में उनके पिता और वरिष्ठ अभिनेता धर्मेद्र और भाई सनी देओल के साथ दिखे थे. बॉबी ने बताया कि बड़े पर्दे से गायब रहने के लिए मैं सिर्फ खुद को दोष दूंगा. मैं निराश हो गया था. मैं निराश और निरुत्साहित महसूस करने लगा था, लेकिन अपने परिवार को देखकर मुझे एहसास हुआ कि मैं उन्हें दुखी नहीं कर सकता. Also Read - Aashram के बाबा निराला बन गए हैं रॉकस्टार, इस कूल अंदाज़ में हुए स्पॉट, लोग बोले- जपनाम | VIDEO

उन्होंने कहा कि मुझे काम करना होगा, अपने पैरों पर खड़े होना है और इसे खुद करना है, क्योंकि मेरी मदद करने वाला कोई नहीं है. बॉबी (49) ने कहा कि बड़े पर्दे से गायब रहने से उन पर बहुत असर पड़ा. उन्होंने कहा, फिल्मी दुनिया से मेरी पहचान गायब हो गई थी. ‘बिच्छू’, ‘अपने’, ‘झूम बराबर झूम’ जैसी सफल फिल्मों के बावजूद प्रसिद्धि का लाभ नहीं उठा पाने के प्रश्न पर उन्होंने कहा, “मैं अज्ञानी था, मुझे एहसास ही नहीं हुआ कि मैंने वैसी प्रसिद्धि हासिल कर ली है. Also Read - Aashram के 'बाबा निराला' को 24 साल पहले हो गया था कोरोना का अंदाज़ा, Aishwarya Rai को पकड़कर किया था स्वाब टेस्ट

उन्होंने कहा कि अब मुझे लगता है कि यदि मैं अज्ञानी नहीं रहा होता तो ऐसा नहीं हुआ होता. लेकिन हार कभी नहीं मानें, कड़ी मेहनत कीजिए और आप जीवन में उपलब्धियां पा सकते हैं. उनका कहना है कि वह मुश्किल समय से गुजर चुके हैं और अंदाजा नहीं लगा सकते कि क्या हो रहा है. Also Read - Aashram के 'बाबा निराला' बन गए हैं क्रिकेट अंपायर! इस अंदाज़ में दे रहे हैं डिसीजन- देखें Viral Video 

बॉबी आगामी रविवार को आयोजित हो रहे इंटरनेशनल इंडियन फिल्म्स एकेडमी (आइफा) में प्रस्तुति देंगे. उन्होंने कहा कि मुझे इस बात का अहसास ही नहीं हुआ कि प्रतिस्पर्धा बढ़ गई है. अब मुझे पता है कि यहां प्रतिस्पर्धा है और मैं खुद को तैयार कर रहा हूं. बॉबी फिलहाल अपनी हालिया फिल्म ‘रेस 3’ की सफलता से उत्साहित हैं. फिल्म ने 100 करोड़ रुपये कमाई का आंकड़ा पार कर लिया है.