नई दिल्ली: बॉलीवुड अदाकारा राधिका आप्टे (Radhika Apte) उन विरले लोगों में से एक हैं, जो अपनी बातों को बेबाकी से खुलकर बोलती हैं. हाल ही में अभिनेत्री ने खुलासा किया कि जब वह श्रीराम राघवन की फिल्म बदलापुर (Badlapur) के रिलीज होने के बाद लगातार उन्हें सेक्स कॉमेडी फिल्मों के ऑफर मिलने लगे. इसकी वजह बनी फिल्म का एक सीन जहां अपने पति को बचाने के लिए राधिका को वरूण के साथ एक कमरे में अकेले जाना पड़ता है.

एक इवेंट में राधिका आप्टे ने बोला कि किस तरह बॉलीवुड ने उन्हें बदला और फिल्म ‘बदलापुर’ में राधिका को मनमोहक अभिनेत्री के रूप में पेश किया गया. एक सवाल के जवाब में राधिका ने कहा कि उन्होंने सेक्स कॉमेडी और कॉमेडी फ्रैचाइजी की फिल्मों से किनारा कर लिया है. राधिका ने आगे बताया कि फिल्म बदलापुर के बाद उन्हें एक सेक्स कॉमेडी फिल्म की पेशकश की गई थी, जिसे राधिका ने करने से  इनकार कर दिया.

राधिका ने आगे कहा- फिल्म बदलापुर के बाद मैंने एक लघु फिल्म अहिल्या की थी. दोनों ही फिल्मों में मैंने एक मनमोहक अभिनेत्री का किरदार निभाया था. एक सवाल के जवाब में राधिका ने कहा कि मैंने कई सारे ऑफर्स को ठुकरा दिया है, क्योंकि मैं नहीं जानती कि वो फिल्में मेरे लिए अच्छी साबित होंगी या बुरी.

बॉलीवुड कल्चर पर बात करते हुए राधिका ने कहा कि हां कई बार इंडस्ट्री में हो रही गलत हरकतों का मुझपर असर पड़ता है. कुछ खास मौकों पर लोग एक साथ होते हैं लेकिन कई मौकों पर मैं खुद को अकेला पाती हूं. उन्होंने कहा कि निर्देशक और लेखक के रूप में आप किसी चीज की व्याख्या कर रहे हैं. आपकी व्याख्या, परिप्रेक्ष्य मेरे लिए सबसे महत्वपूर्ण है. अगर काम अच्छा लगा तो मैं पुरुष का किरदार भी निभा सकती हूं. लेकिन एक परिप्रेक्ष्य के रूप में, आप जो दिखाते हैं वह सबसे महत्वपूर्ण है. अगर मैं निर्माता के दृष्टिकोण और व्याख्या से असहमत हूं, तो मैं फिल्म नहीं करूंगी.