कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ‘#MeToo’ अभियान का समर्थन करते हुए शुक्रवार को कहा कि बदलाव लाने के लिए सच को ऊंची आवाज में बोलना होगा. उन्होंने यह भी कहा कि यह समय है कि सभी लोग महिलाओं के साथ सम्मान से पेश आएं. गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘अब समय आ गया है कि हर व्यक्ति महिलाओं के साथ सम्मान और मर्यादा के साथ पेश आए. मुझे इसकी खुशी है कि जो ऐसा नहीं करते हैं उनके लिए दायरा सिकुड़ रहा है.’ Also Read - किसानों को दुनिया की कोई सरकार नहीं रोक सकती, मोदी सरकार को वापस लेने होंगे काले कानून: राहुल गांधी

उन्होंने कहा, ‘बदलाव लाने के लिए सच को ऊंची आवाज में बोलना होगा.’ अभिनेत्री तनुश्री दत्ता ने हाल ही में आरोप लगाया था कि 2008 में एक फिल्म के सेट पर अभिनेता नाना पाटेकर ने उनका यौन उत्पीड़न किया. इसके बाद हॉलीवुड के ‘मी टू’ की तर्ज पर भारत में अभियान शुरू हुआ है. अब तक कई महिलाएं अपने साथ हुए गलत आचरण के बारे में खुलकर बोल चुकी हैं. Also Read - तरुण गोगोई मेरे 'गुरु' थे, मुझे अपने बेटे की तरह मानते थे: राहुल गांधी

तनुश्री की ओर से नाना पाटेकर पर यौन उत्पीड़न लगाए जाने के बाद से फिल्म इंडस्ट्री और बाकी महिलाएं अब खुलकर इस बारे में बात कर रही हैं. तनुश्री-नाना पाटेकर मामले में मुंबई पुलिस ने जांच शुरू कर दी है. नुश्री ने नाना के खिलाफ 2008 में एक फिल्म के सेट पर उनका यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है. बुधवार को भारतीय दंड संहिता की धारा 353 और 503 के तहत प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी. Also Read - अहमद पटेल कांग्रेस के एक मजबूत स्तंभ थे जो मुश्किल दौर में हमेंशा पार्टी के साथ खड़े रहे: राहुल गांधी

तनुश्री के वकील नितिन सत्पुते ने मीडिया से कहा, “हमने चार लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है- नाना पाटेकर, कोरियोग्राफर गणेश आचार्य, फिल्म निर्माता समी सिद्दीकी और निर्देशक राकेश सारंग. अब, पुलिस मामले की जांच कर रही है.