प्रत्युषा सुसाइड केस में  प्रेगनेंसी की ख़बरों पर डॉक्टरों की हामी के बाद पुलिस ने बॉयफ्रेंड राहुल राज सिंह से पूछताछ की। जिसके बाद राहुल राज सिंह ने कई चौंकानेवाले राज़ से पर्दा उठाया, जिसने इस केस की दिशा बदल दी। जब ये खबर आई कि मौत से पहले प्रत्युषा प्रेग्नेंट थीं और उन्होंने अबोर्शन करवाया था, तो प्रत्युषा के घरवालों से लेकर दोस्तों को ये सुनकर धक्का लगा। लेकिन इसके साथ-साथ इस सुसाइड केस में शक की सुई फिर एक बार राहुल राज सिंह पर आ गई। इस पूरी घटना के बाद पुलिस ने राहुल को पूछताछ के लिए पुलिस स्टेशन बुलवाया, जहाँ उसने प्रत्युषा की प्रेगनेंसी की बात कबूली।

प्रत्युषा की प्रेगनेंसी की बात कबूलते हुए कहा कि वह इसके बारे में जानता था। लेकिन उसने इस बात को नकार दिया की प्रत्युषा ने सुसाइड से एक दिन पहले अबोर्शन करवाया था। राहुल ने पुलिस को बताया कि वह जनवरी माह में प्रेग्नेंट हुईं थीं, जिसके बाद उन्होंने जनवरी में ही अबोर्शन का फैसला ले लिया था। राहुल ने ये भी बताया कि प्रत्युषा ने सुसाइड के कई दिनों पहले अबोर्शन करवा लिया था।

ये भी पढ़ें: प्रत्युषा बैनर्जी ने अपने आखिरी इंटरव्यू में खोले कई राज़, क्या ये थी प्रत्युषा की मौत की वजह?

राहुल से पूछताछ के दौरान पुलिस ने जब सवाल किया कि क्या प्रत्युषा ने इस मामले में किसी तरह की डॉक्टरी सलाह ली थी? जिसके जवाब में राहुल ने बताया कि प्रत्युषा ने किसी गायनेकोलोजिस्ट से संपर्क किया था। हालांकि राहुल ने इस बात से इनकार किया कि वे इस दौरान प्रत्युषा के साथ डॉक्टर के पास गए थे। राहुल राज सिंह के इस सनसनीखेज़ बयान से ये सवाल उठ खड़ा हुआ है कि इन दोनों के बीच ऐसा क्या हुआ था कि राहुल ने ऐसे नाज़ुक मौके पर प्रत्युषा का साथ छोड़ दिया। और क्या यही वजह थी की प्रत्युषा मानसिक दबाव में थी? इसकी वजह से उन्हें ज़िन्दगी से ज्यादा मौत प्यारी लगी?