रजनीकांत की फिल्‍म काला की रिलीज पर रोक लगाने से सुप्रीम कोर्ट ने इंकार कर दिया है. कावेरी विवाद पर अभिनेता की कथित टिप्पणी को लेकर कर्नाटक में फिल्म की रिलीज पर रोक लगा दी गई थी.कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने मंगलवार को राज्य के डिस्ट्रीब्यूटरों से रजनीकांत की फिल्म ‘काला’ रिलीज नहीं करने का आग्रह किया था. उन्होंने कहा था कि कर्नाटकवासी होने के नाते वितरकों से अपील करते हैं कि इस तरह के माहौल में रजनीकांत की फिल्म ‘काला’रिलीज नहीं करें.  लेकिन एक मुख्यमंत्री के तौर पर वह खुद इस मुद्दे पर कोर्ट के आदेश का पालन करेंगे. बता दें, खबर थी कि  रजनीकांत की फिल्म ‘काला’ सुबह 4 बजे रिलीज की जाएगी. शोज के टिक्ट्स धड़ाधड़ बिक रहे हैं.

कर्नाटक में क्यों हुई थी बैन?
कावेरी विवाद में रजनीकांत के एक बयान के बाद कर्नाटक में उनकी फिल्म का प्रदर्शन बैन कर दिया गया था. रजनीकांत ने कहा था, कावेरी नदी से तमिलनाडु को मिलने वाले पानी की मात्रा को कम करने का सुप्रीम कोर्ट का आदेश निराशाजनक है. उनके इस बयान की काफी आलोचना हुई थी और कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने रजनीकांत को कर्नाटक आने का न्योता देकर वहां की स्थिति का जायजा लेने को कहा था. मुख्यमंत्री ने कहा था कि उन्हें विश्वास है कि रजनीकांत यहां कि स्थिति देख अपना फैसला जरुर बदल लेंगे. फिल्म को बैन किए जाने को लेकर सुपरस्टार के देश विदेश में फैन्स इस फैसले का विरोध सोशल मीडिया पर अपने अपने तरीके से किया था.

kaala

कैसी है फिल्म?
रजनीकांत अपनी सुपस्टार छवि को अपनी नई फिल्म ‘काला’ में एक बार फिर भुनाते नजर आ रहे हैं. ‘काला’ का ट्रेलर साबित करता है कि रजनीकांत नेतागिरी को लेकर सच में गंभीर हैं.फिल्म में वह धरती के बेटे हैं, जो किसानों को प्रताड़ित करने वाले लोगों के खिलाफ आवाज उठाते हैं.वह जमींदार की भूमिका निभा रहे नाना पाटेकर का विरोध करते हैं, जिन्हें ट्रेलर में देखकर स्पष्ट हो जाता है कि वह नायक के सबसे बड़े दुश्मन हैं.फिल्म में रजनीकांत धोती पहने बिना फिल्म ‘लगान’ में आमिर खान के किरदार की तरह किसानों के नायक की भूमिका में नजर आ रहे हैं और ट्रेलर को लगता है कि सिर्फ उनमें नाना पाटेकर से भिड़ने का दमखम है.

 

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.