बॉलीवुड के फेमस डायरेक्टर राजकुमार हिरानी ने हाल ही में कहा था कि संजू में भावनात्मक लगाव के लिए अतिरिक्त भाग जोड़ा गया था. इसके बाद अब उनका कहना है कि वह संजय दत्त के करीबी मित्र नहीं हैं. संजय की मादक पदार्थो की लत, प्रेम प्रसंग, वर्ष 1993 के बम विस्फोट मामले में हथियारों को अपने घर में रखने और अपने अभिभावकों और मित्रों के साथ संबंध..सभी कुछ हिरानी ने फिल्म ‘संजू’ में दिखाया था. Also Read - KGF Chapter 2 Release Date: आज शाम 6:32 पर Yash-Sanjay Dutt स्टारर केजीएफ 2 की रिलीज डेट का ऐलान, तैयार हैं?

यद्यपि कई लोगों को लगा कि फिल्म में काफी कुछ छूट गया है. फिल्मकार पर यहां तक संजय दत्त की छवि चमकाने का आरोप भी लग चुका है. हिरानी ने कहा, “फिल्म संजू का संजय के साथ संबंध का कोई लेना-देना नहीं था.” हिरानी ने इंडियन फिल्म एंड टीवी डायरेक्टर्स एसोसिएशन (आईएफ टीडीए) की विशेष मास्टरक्लास के मौके पर कहा, “मुझे नहीं लगता कि मैं उनका बेस्ट फ्रेंड हूं. मैंने उनकी कहानी की वजह से फिल्म बनाई.”

हिरानी ने कहा, “मैंने उनके साथ ‘लगे रहो मुन्ना भाई’ और ‘मुन्ना भाई एमबीबीएस’ भी बनाई लेकिन मैंने कभी भी उनके साथ पार्टी नहीं की. मैं उनकी मित्र मंडली में शामिल नहीं हुआ. वह संजय गुप्ता, महेश मांजेरकर और अन्य लोगों के साथ काफी करीब हैं.”

एक घटना को याद करते हुए वह कहते हैं, “मुझे मुन्ना भाई की शूटिंग याद है जब महेश और संजय सेट पर आते थे और उनके साथ पार्टी, शराब आदि पर बात करते थे. मैं अगर वहां मौजूद होता था तो संजय बहुत असुविधाजनक हो जाते थे. इसलिए मैं कहना चाहूंगा कि मैं संजय का करीबी मित्र नहीं हूं लेकिन मैंने फिल्म बनाई और उस किरदार को लेकर अपनी सोच को इसमें शामिल किया.”

संजय को लेकर अपने विचारों के बारे में उन्होंने कहा, “मेरे अनुसार उनकी अधिकांश हरकतें गलत थीं जैसे अपने दोस्त की प्रेमिका के साथ सोना, बंदूक रखना या नशा करना, लेकिन वह विलेन नहीं हैं. वह दिल से बुरे इंसान नहीं हैं.”