बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत और शिव सेना के बीच जुबानी जंग खत्म होने का नाम नहीं ले रही. मुंबई में बीएमसी द्वारा अभिनेत्री कंगना रनौत का ऑफिस गिराए जाने को लेकर अयोध्या के संत रनौत के समर्थन में उतर आए हैं. तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास ने कहा था ठाकरे परिवार के निवासस्थान ‘मातोश्री’ में बहुत सारे अवैध निर्माण हैं, उन्हें भी ध्वस्त किया जाना चाहिए.Also Read - Akshara Singh के इस ग्लैमरस अवतार के आगे फेल है बॉलीवुड हसीनाएं, भोजपुरी बाला का बिकिनी लुक हुआ Viral

साधु-संतों ने और विश्व हिंदू परिषद (VHP) ने घोषणा की है कि वे शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को अयोध्या में प्रवेश नहीं करने देंगे. इसी बीच श्रीराम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय भी इस विवाद में कूद पड़े हैं. उन्होंने कहा- किसमें इतना दम है कि उद्धव को अयोध्या आने से रोक सकें. जिसकी मां ने दूध पिलाया वो उद्धव का सामना करे.उनका मानना है कि बेवजह इस मामले को तूल दिया जा रहा है. Also Read - महफिल लूटती हैं Malaika Arora की ये चुनिंदा तस्वीरें, चेहरे की रंगत बढ़ाता है अर्जुन कपूर का इश्क

बता दें, संतों ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (Udhav Thakrey) के विरोध में अब बिगुल फूंक दिया है. बीते दिनों महाराष्ट्र में हुई संतों की हत्या और उसके बाद अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की हत्या में बदले की भावना से काम कर रहे महाराष्ट्र सरकार से अयोध्या के संत काफी नाराज हैं. Also Read - Nushrratt Bharuccha के लिए 'Chhorii' है करियर की सबसे मुश्किल फिल्म, इन चुनौतियों का करना पड़ा सामना

हनुमानगढ़ी के महंत राजू दास ने अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana ranaut)के कार्यालय को बीएमसी (BMC) के द्वारा ध्वस्त किए जाने को लेकर सवाल उठाते हुए बोले कि उद्धव ठाकरे और उनकी शिवसेना का अयोध्या में कोई भी संत और हिंदू जनमानस स्वागत नहीं करेगा. उनका पुरजोर विरोध किया जाएगा. महंत राजू दास ने कहा कि शिवसेना अब सोनिया की सेना हो गई है.