अभिनेता राणा दग्गुबाती के महत्वपूर्ण संवाद से आगामी तेलुगू हिंदी द्विभाषी फिल्म ‘गाजी’ का अंत होगा। वहीं अभिनेता ने कहा कि फिल्म के संवाद बोलते हुए उन्हें देशभक्ति का अहसास हुआ। फिल्म के ट्रेलर में उन्हें संवाद बोलते देखा जा सकता है।

राणा ने आईएएनएस से कहा, “हम अत्यधिक प्रेरणादायक और भावनात्मक भाषण देना चाहते थे। किरदार का मजबूती से बाहर आना आवश्यक है और उन संवादों को बोलते हुए देशभक्ति का अहसास हुआ। मैं इस तरह की शानदार शक्तिशाली और छोटी लाइनों को लिखने का श्रेय पटकथा लेखक को देता हूं क्योंकि इससे वह पूरी टीम को भावुक करना चाहते थे।”

दोनों भाषाओं में यह फिल्म 17 फरवरी को जारी होगी। यह भारत और पाकिस्तान के बीच 1971 के युद्ध के दौरान पाकिस्तानी पनडुब्बी ‘पीएनएस गाजी’ के रहस्यमय ढंग से डूबने पर आधारित है।

फिल्म में राणा लेफ्टिनेंट कमांडर अर्जुन वर्मा की भूमिका में नजर आएंगे।

नए निर्देशक संकल्प द्वारा निर्देशित फिल्म में के के मेनन, अतुल कुलकर्णी और ओम पुरी प्रमुख भूमिकाओं में हैं। ओम पुरी की यह एक आखिरी फिल्म है।

फिल्म की कहानी भारतीय पनडुब्बी एस21 के एक कार्यकारी नौसेना अधिकारी और उनकी टीम के बारे में है, जो 18 दिनों तक पानी के अंदर रहे थे।