शुक्रवार को रानी मुखर्जी की फिल्म ‘हिचकी’ रिलीज हो गई है. चार साल के बाद वे इस फिल्म के जरिए कमबैक कर रही हैं. रानी ने अपनी फिल्म का प्रमोशन एक अलग अंदाज में किया. जिसमें बड़ी-बड़ी बॉलीवुड हस्तियों ने अपनी ‘हिचकी’ के बारे में बताया. इस कड़ी में अब आमिर खान भी शामिल हो गए हैं. आमिर ने बताया, उनके स्वभाव में एक सनकपन है. जब तक काम पूरे परफेक्शन के साथ नहीं हो जाता वे बैचेन रहते हैं. वे अभी तक इस ‘हिचकी’ से छुटकारा नहीं पाए हैं. उन्होंने कहा, शायद इस फिल्म के बाद वे अपनी इस समस्या को सुधार पाएंगे. यूट्यूब पर जारी 40 सेकेंड के एक वीडियो में आमिर अपनी हिचकी के बारे में बात करते नजर आए हैं. वीडियो यशराज फिल्म्स ने जारी किया है.


बता दें, इससे पहले शाहरुख ने बताया कि मां-बाप को खो देना उनके लिए सबसे बड़ी हिचकी है. उनके गुजरने के बाद शाहरुख के जीवन में एक बड़ा शून्य पैदा हो गया था और ये सब बड़ी जल्दी हुआ था. 15 साल की उम्र में उनके पिता का इंतकाल हो गया था और 24 साल की उम्र में उनकी मां गुजर गई थीं. 

Hichki Movie Review: अच्छे-अच्छों की बोलती बंद करती है रानी मुखर्जी की 'हिचकी'

Hichki Movie Review: अच्छे-अच्छों की बोलती बंद करती है रानी मुखर्जी की 'हिचकी'

बता दें, फिल्म में रानी मुखर्जी एक स्कूल टीचर ( रानी नैना माथुर) की भूमिका में हैं. जिसे ‘टॉरेट सिंड्रोम’नामक बीमारी है. जिसके कारण उसे बोलने में दिक्कत होती है. काफी कोशिशों के बाद उसे एक बड़े स्कूल में नौकरी मिल जाती है. लेकिन अपनी इस बीमारी की वजह से उन्हें हमेशा परेशानी का सामना करना पड़ता है. लोग रानी का मजाक उड़ाते हैं. यहां कि स्कूल के बच्चे भी रानी को बेहद परेशान करते हैं. यही नहीं स्कूल स्टाफ भी रानी को आसानी से काम नहीं करने देता. लेकिन रानी भी हार नहीं मानती वो बच्चों को अपना बनाने के लिए हर वो उपाय करती है जिससे वो खुश रह सकें. तमाम अड़चनों के बाद वो इस संघर्ष में वो सफल भी होती है.