रानी मुखर्जी अभिनीत ‘हिचकी’ ने 12 अक्टूबर को चीन में रिलीज के बाद से 100 करोड़ रुपए से अधिक की कमाई कर ली है. प्रोडक्शन बैनर यशराज फिल्म्स ने इसकी जानकारी दी. ‘हिचकी’ टॉरेट सिंड्रोम से जूझ रही एक टीचर की कहानी है, जो आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों की जिंदगी बदल देती है. बयान के मुताबिक, यह फिल्म चीन में ब्लॉकबस्टर है. Also Read - Rani Mukherji On Black: Blind Girl का किरदार नहीं निभाना चाहती थीं रानी मुखर्जी, फिर.......

फिल्म ने चीन में 100 करोड़ रुपये के आंकड़ें को छू लिया है. चीन में लोगों की रानी का बेहतरीन अभिनय पसंद आया. रानी ने कहा, “अच्छे सिनेमा के लिए भाषा किसी तरह की बाधा नहीं है और यह दर्शकों के दिलों और दिमाग को जोड़ती है और चीन में ‘हिचकी’ की सफलता ने यह साबित कर दिया है.” यशराज फिल्म्स की इस फिल्म का निर्माण मनीष शर्मा ने किया है. Also Read - बॉलीवुड अभिनेता और सांसद अयोध्या की रामलीला में निभाएंगे किरदार, टीवी पर होगा लाइव प्रसारण

यहग कहानी एक महत्वाकांक्षी स्कूल टीचर की है जो टॉरेट सिंड्रोम से ग्रसित है. इस फिल्म में की रानी मुखर्जी लीड रोल निभाया है. अभिनेत्री रानी मुखर्जी भारत के सामाजिक तानेबाने में बुनी एक फिल्म पर चीनी दर्शकों की प्रतिक्रिया जानने के लिए उत्साहित हैं. इस फिल्म को हर वर्ग के दर्शक ने काफी पसंद किया था. Also Read - अयोध्या: फिल्मी सितारों और राजनेताओं से सजेगी रामलीला, जानें कौन बनेंगे राम और रावण

फिल्म के जरिए ईडब्ल्यूएस(economic weaker section) कोटे से आए बच्चों के साथ स्कूल में होने वाले भेदभाव को भी दिखाया गया है. प्राइवेट स्कूलों के टीचर किस तरह गरीब बच्चों को पढ़ाने में रूचि नहीं लेते और अन्य भेदभाव को भी फिल्म में काफी अच्छी तरह से दिखाया गया है.

‘दंगल’, ‘बजरंगी भाईजान’, ‘हिंदी मीडियम’ और ‘सीक्रेट सुपरस्टार’ की शानदार सफलता के बाद चीन भारतीय सिनेमा का एक बड़ा बाजार बनकर उभरा है. चीन में भरतीय फिल्मों के बढ़ते बाजार से बॉलीवुड डायरेक्टर्स भी खुश नजर आ रहे हैं. इससे न केवल मुनाफ बढ़ेगा बल्कि उनका हौसले को भी उड़ान नई मिलेगी.

(इनपुट एजेंसी से भी)