मुंबई: साल 2016 में एक स्थानीय अदालत द्वारा धोखाधड़ी और जबरन वसूली मामले पर जारी किए गए गैर-जमानती वारंट से राहत पाने के लिए कथित तौर पर इलाहाबाद उच्च न्यायालय का रुख करने वाले फिल्मकार और नेशनल अवॉर्ड विजेता कोरियोग्राफर रेमो डिसूजा ने कहा कि उन पर लगा ठगी का यह मामला झूठा है. 23 सितंबर 2016 में किए गए केस पर फिल्मकार ने बताया, “मेरे और मेरे वकील के खिलाफ एक झूठा मामला चल रहा है. हालांकि वह कानूनी प्रक्रिया के अंतगर्त है और मेरे वकील इसे देख रहे हैं, इसलिए मैं इस बारे में ज्यादा नहीं कह सकता, हां बस इतना ही कह सकता हूं कि यह मामला झूठा है और सच बहुत जल्दी सामने होगा.”

यह भी देखें

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सतेंद्र त्यागी नामक एक शख्स ने रेमो के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. शख्स के अनुसार फिल्मकार ने उन्हें साल 2014 में एक फिल्म निर्माण में 5 करोड़ रुपये का निवेश करने के लिए राजी किया था और बाद में पैसे लौटाने का वादा किया था. हालांकि, उन्होंने पैसे कभी नहीं लौटाए. इसके साथ ही त्यागी ने यह भी दावा किया कि उन्हें किसी माफिया ने फोन कर जान से मारने की धमकी देते हुए 1 करोड़ रुपये की फिरौती मांगी.

Bhojpuri: लंदन में दूल्हा-दुल्हन बनकर रोमांस करते दिखे निरहुआ- आम्रपाली दुबे, आग की तरह फैल रही है तस्वीर