देशभर में गणतंत्र दिवस की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं. एक बार हमारा तिरंगा फिर हवा में लहराएगा. इतराएगा. हमारा सीना होगा चौड़ा. पूरा देश जश्न मनाएगा. इ स दिन भारतीय संविधान लागू किया गया था. हिंदी सिनेमा की बात करें तो बॉलीवुड में कई फिल्में बनी हैं जो लोगों में देशभक्ति का जज्बा जगाती हैं. रंग दे बसंती, होलिडे, बेबी, चक दे इंडिया, नेताजी सुभाष चन्द्र बोस, मंगल पांडे, भाग मिल्खा भाग, मैरीकॉम, स्वदेश. यूं तो इस दिन को सेलिब्रेट करने का सभी का अपना अंदाज होता है. कुछ लोग ऐसे हैं जो इस दिन देशभक्ति पर बनी फिल्में देखना पसंद करते हैं. इस दिन माहौल भी बाकी दिनों से अलग होता है. हर तरफ देशभक्ति और देशप्रेम के गाने सुन फिजा भी देशभक्ति हो जाती है. तो इस खास मौके पर आज हम आपको बता रहे हैं 10 फिल्में जो आपके अंदर देशभक्ति की भावना जगाती हैं. Also Read - Bigg Boss 14 की विजेता Rubina Dilaik ने पति Abhinav Shukla के साथ किया डांस, देखें Viral Video

Street Dancer 3D movie Review in hindi : डांस…डांस…सिर्फ डांस…कहानी नदारद, ढाई घंटे का टार्चर Also Read - सलमान खान के बाद Rakhi Sawant की मदद के लिए आगे आए Sohail Khan, कहा ‘कुछ भी जरुरत हो तो…’

शहीद- 1965
‘शहीद’ भारत की आजादी की लड़ाई पर आधारित फिल्म है. यह फिल्म भगत सिंह के जीवन पर 1965 में बनी थी जिसे दर्शकों ने काफी पसंद किया था. फिल्म की कहानी स्वयं भगत सिंह के साथी बटुकेश्वर दत्त ने लिखी थी. इस फिल्म के गीत अमर शहीद राम प्रसाद ‘बिस्मिल’ ने लिखे थे. मनोज कुमार ने इस फिल्म में शहीद भगत सिंह का का किरदार अदा किया था. भारतीय स्वतंत्रता संग्राम पर आधारित यह अब तक की सर्वश्रेष्ठ फिल्म है. Also Read - खेतों के बीचों-बीच किसके डर से भागती नज़र आईं मलाइका, Stunning Photo शेयर कर लिखा- Run malla run

बॉर्डर- 1997
जे.पी. दत्ता की फिल्म ‘बॉर्डर’ 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध पर आधारित थी. इस फिल्म की कहानी एक सत्य घटना से प्रेरित थी. इस फिल्म में भारत-पाक युद्ध के समय लड़े गए लोंगेवाला युद्ध को काफी करीब से समझाया गया है. फिल्म की कहानी 1971 मे हुए भारत-पाकिस्तान की लड़ाई से प्रेरित है. कहानी के मुताबिक राजस्थान में 120 भारतीय जवान सारी रात पाकिस्तान की टांक रेजिमेंट का सामना करते थे.

गांधी- 1982
1982 में आई ‘गांधी’ मोहनदास करमचंद गांधी के जीवन पर आधारित फिल्म थी. फिल्म का निर्देशन रिचर्ड एटनबरो ने किया है. इस फिल्म में बेन किंग्सले महात्मा गांधी की भूमिका में है. इस फिल्म को दर्शकों ने काफी पसंद किया था. फिल्म की सफलता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इसे अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया था.

हकीकत- 1964
1964 में आई फिल्म ‘हकीकत’ हमें इतिहास से रू-ब-रू कराती है. ये एक ऐसे सैनिकों की टुकड़ी की कहानी थी, जो लद्दाख में भारत-चीन युद्ध के दौरान सोचते हैं कि उनकी मौत निश्चित है लेकिन उनमें से कुछ सैनिकों को कैप्टन बहादुर सिंह (धर्मेंद्र) बचाने में सफल हुए थे.

लक्ष्य- 2004
ऋतिक रौशन और प्रीति जिंटा स्टारर फिल्म ‘लक्ष्य’ 2004 में बनी फरहान अख्तर द्वारा निर्देशित एक सफल फिल्म थी. ऋतिक लेफ्टिनेंट करण शेरगिल की भूमिका में नजर आते हैं, जो अपनी टीम का नेतृत्व कर आतंकवादियों पर जीत पाते हैं. हालांकि यह फिल्म 1999 के कारगिल युद्ध के संघर्ष की ऐतिहासिक घटनाओं पर आधारित एक काल्पनिक कहानी है.

फिल्म – बेबी

फिल्म – रंग दे बसंती

26 जनवरी 2006 को रिलीज हुई इस फिल्म में आमिर खान , कुणाल कपूर, सिद्धार्थ, आर माधवन और सोहा अली खान मुख्य भूमिका में थे. फिल्म का संगीत ए. आर रहमान ने दिया था इसके अलावा दलेर मेहंदी के साथ-साथ लता मंगेशकर ने भी इस फिल्‍म में कई बेहतरीन गाने गाए थे.

फिल्म – होलिडे

देश के अलग-अलग कोनों में आतंकवादी गतिविधियों में शामिल स्लीपर सेल की भूमिका को लेकर बनी फिल्म ‘हॉलीडे’ फिल्म पहले तेलुगु में बनी थी, जिसमें साउथ के दिग्गज सितारे विजय के साथ काजल अग्रवाल की मुख्य भूमिका थी. इस मूल फिल्म का निर्माण करने वाले निर्देशक एआर मुरगदास ने ही इसके हिंदी रीमेक का निर्देशन किया, जिसमें मुख्य भूमिका अक्षय कुमार और सोनाक्षी सिन्हा की थी. गोविंदा ने भी इस फिल्म में एक अहम भूमिका की थी.

मां तुझे सलाम

2002 में आई फिल्म ‘मां तुझे सलाम’ में भी सनी देओल एक आर्मी अफसर बने थे. जो आतंकवाद से लड़ता है.

फिल्म – मंगल पांडे

यह पहले स्वतंत्रता संग्राम के वीर सिपाही मंगल पांडे की जीवन गाथा और भारतीय विद्रोह (1857) में उनकी भूमिका पर आधारित एक ऐतिहासिक फिल्म है. फ़िल्म में दर्शाया गया विद्रोह ‘भारतीय स्वतंत्रता के प्रथम संग्राम, ‘या’ सिपाही विद्रोह के रूप में जाना जाता है.