अभिनेत्री ऋचा चड्ढा गणेश चतुर्थी के दौरान यहां सड़कों और समुद्र तटों का हाल देखकर दुखी हो जाती हैं, इसलिए वह एक ऐसी पहल को समर्थन दे रही हैं जो पर्यावरण अनुकूल गणेश मूर्तियों के उपयोग को बढ़ावा देता है. गणेशोत्सव शुक्रवार से शुरू हो रहा है. ऋचा ने बुधवार को यहां ट्री गणेश केंद्र का दौरा किया. यह दत्ताद्री कोथुर की पहल है. यहां गणेश मूर्तियां इस तरह से डिजाइन की जाती हैं कि विसर्जन के बाद वे पेड़ के रूप में विकसित होने लगती हैं.

ऋचा और कोथुर ने एक मूर्ति भी बनाई. ऋचा ने अपने बयान में कहा, “मैं इस पहल का समर्थन करके खुश हूं. इसके बारे में मैं पहले भी सुन चुकी हूं, लेकिन पहली बार मैं ऐसी किसी पहल का हिस्सा बनी हूं. मुझे लगता है कि यह उचित समय है कि त्योहार के नाम पर हम पर्यावरण को प्रदूषित करना बंद कर दें और देरी होने से पहले जितनी जल्दी हो सके सावधान हो जाएं.”

अभिनेत्री ने कहा कि विसर्जन के दौरान जले पटाखों, गंदे समुद्र तटों को देखकर उन्हें दुख होता है, इसलिए उन्हें लगता है कि ‘ट्री गणेश’ इसका बढ़िया उपाय है.