मुंबई: बॉलीवुड में रंग बिरंगे किरदार को निभाने के लिए मशहूर एक्टर रितेश देशमुख (Riteish Deshmukh) ने अपने आने वाले प्रोजेक्ट के बारे में कुछ खुलासा किया है. साल 2003 में आई फिल्म ‘तुझे मेरी कसम’ से इंडस्ट्री में डेब्यू करने वाले इस अभिनेता ने छत्रपति शिवाजी महाराज की जिंदगी पर बनने वाली फिल्म के बारे में कुछ बताया है. Also Read - Chhatrapati Shivaji Maharaj Jayanti: मुगलों को घुटने टेकने पर शिवाजी ने किया मजबूर, पढ़ें हिंदू हृदय सम्राट की कहानी

अभिनेता रितेश देशमुख और फिल्म ‘सैराट’ के निर्देशक नागराज मंजुले की इस महत्वाकांक्षी बहुभाषी परियोजना की शूटिंग इस साल के अंत तक शुरू होगी और तीन फिल्मों में से इसकी पहली फिल्म 2021 को रिलीज होगी. रितेश ने पहली बार इस परियोजना के बारे में एक हफ्ते पहले बात की थी और अब इस पर उनका कहना है कि यह कई भाषाओं में होगी. वह अपने बैनर मुंबई फिल्म कंपनी के साथ इसे बना रहे हैं और इसके साथ ही वह फिल्म में छत्रपति शिवाजी महाराज के किरदार को भी निभाते नजर आएंगे. संगीतकार जोड़ी अजय-अतुल इसमें भी अपना संगीत देंगे, जो मंजुले की हर फिल्म में बने रहे हैं. Also Read - Maharashtra News: पवनगढ़ दुर्ग के पास खुदाई में मिले 17वीं शताब्दी के तोप के गोले, देखें तस्वीर...

अपनी आगामी फिल्म ‘बागी 3’ के एक प्रचार कार्यक्रम में मीडिया से बात करते हुए रितेश ने कहा, “अब तक इस परियोजना के साथ तीन ही लोग जुड़े है-नागराज मंजुले, (संगीतकार जोड़ी) अजय-अतुल और मैं. हमने महसूस किया कि हम इस फिल्म को बनाने में तालमेल बिठा पाएंगे. हम कुछ अलग और रोमांचकर बनाना चाहते हैं, आगे देखते हैं.” Also Read - जेनेलिया-रितेश देशमुख का ये रोमांटिक VIDEO हुआ VIRAL, 'फॉरएवर वाली लव स्टोरी' पर लोगों ने लुटाया प्यार

रितेश ने आगे कहा, “आमतौर पर, हम इसे हिंदी और मराठी में बनाना पसंद करेंगे, लेकिन इसके साथ ही हम निश्चित रूप से अन्य भाषाओं में भी इसे बनाने की सोचेंगे. हमारे फिल्म बनाने के बाद अगर लोगों को लगता है कि इसे दूसरे राज्यों में ले जाया जा सकता है, तो हम ऐसा करने की कोशिश जरूर करेंगे क्योंकि शिवाजी महाराज के पिता (शाहजी भोंसले) तत्कालीन कर्नाटक में रहा करते थे. वहां कई सारे किले हैं और तेलुगु के कई सारे क्षेत्रों पर भी उनका शासन था.”

ऐसा बताया जा रहा है कि पहले भाग का शीर्षक ‘शिवाजी’ होगा, जिसमें छत्रपति शिवाजी महाराज की जिंदगी के शुरुआती दिनों को दिखाया जाएगा. दूसरे भाग ‘राजा शिवाजी’ में उस दौर का वर्णन होगा, जब उन्होंने मराठा साम्राज्य की स्थापना की. तीसरे भाग ‘छत्रपति शिवाजी’ में भारत में उनके समग्र प्रभुत्व को दर्शाया जाएगा.

इनपुट-एजेंसी