बॉलीवुड कलाकार संजय दत्त की जिंदगी पर बनी फिल्म ‘संजू’ बॉक्स ऑफिस पर लगातार कमाई कर रही है. एक और जहां लोग इसे पसंद कर रहे हैं वहीं दूसरी ओर इसकी जरूरत पर भी सवाल कर रहे हैं. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के मुखपत्र पांचजन्य ने इस फिल्म पर सवाल उठाए हैं. इसमें लिखा गया है कि फिल्म इंडस्ट्री और अंडरवर्ल्ड माफिया के महिमामंडन करने की जरूरत क्या है. यही नहीं इस लेख में संजय दत्त की बायोपिक बनाने वाले निर्माता-निर्देशक हिरानी की आलोचना की गई है. ‘किरदार दागदार’ लेख के जरिए RSS ने कहा है कि फिल्म का हिरानी द्वारा इस फिल्म को बनाने का मकसद क्या है? बॉक्स ऑफिस पर पैसा बटोरना या फिर संजय की छवि में चार-चांद लगाना? इस लेख में संजय को नशेड़ी और लड़की बाज कहकर संबोधित किया गया है.नरगिस दत्त का संजय दत्त के लिए ऑडियो में आखिरी मैसेज, सुनकर आंखें भीख जाएंगी Also Read - VIRAL VIDEO: क्या साथ रह रहे हैं रणबीर कपूर और आलिया, कोरोना लॉकडाउन के बीच साथ आए नजर

sanju Also Read - #stayhomestaysafe: बालकनी से सनसेट निहार रहीं आलिया की रणबीर ने ली तस्वीर, कैप्शन लिखा...

इस लेख के अनुसार कहा गया है कि संजय दत्त वही इंसान हैं जिनकी 1993 में मुंबई धमाकों के अपराधियों से साठगांठ थी. इसलिए उन्हें जेल की सजा भी हुई थी. इस लेख में सवाल किया गया कि क्या इस फिल्म से हमारे देश के नवयुवकों को कुछ सीखने को मिलेगा? क्या संजय दत्त की जिंदगी एक बायोपिक बनने लायक है? क्या ये फिल्म किसी शख्स के दागदार दामन को साफ-सुथरा करने का एक पीआर अभियान नहीं है? क्या वाकई कुछ करोड़ खर्च करके किसी की छवि सुधारी जा सकती है? लेख में राजकुमार हिरानी को हिंदू विरोधी कहा गया है. उन्होंने पीके फिल्म बनाकर हिंदू धर्म पर भी निशाना साधा है. Also Read - Trending News Today 18 March: आलिया के जन्मदिन पर नज़र नहीं आए रणबीर कपूर, रिश्तों में अब वो मिठास नहीं रही?

sanju

बता दें, कलेक्शन के मामले में रणबीर कपूर की ‘संजू’ ने सलमान खान की ‘रेस-3’, टाइगर श्रॉफ की ‘बागी-2’, दीपिका पादुकोण-रणवीर सिंह और शाहिद कपूर स्टारर ‘पद्मावत’ को भी पछाड़ दिया है. कहा तो यहां तक जा रहा है कि ‘संजू’ के जरिए एक्टर रणबीर कपूर को उनके अब तक के करियर की सबसे बड़ी ओपनिंग मिली है.

 

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.