अभिनेता सैफ अली खान का कहना है कि उन्हें अपनी छोटी बहन सोहा अली खान पर गर्व है कि सर्वश्रेष्ठ बायोग्राफी के लिए उनकी किताब नामित हुई है. सोहा को क्रॉसवर्ड बुक अवॉर्ड में उनकी किताब ‘द पेरिल्स ऑफ बिइंग मॉडरेटली फेमस’ के लिए सर्वश्रेष्ठ बायोग्राफी के लिए नामित किया गया है. सैफ ने कहा, मुझे क्रॉसवर्ड बुक अवॉर्डस में नामित होने के लिए छोटी बहन पर गर्व है. पुरस्कार समारोह यहां 20 दिसंबर को आयोजित होगा.

20वें जियो मामी फिल्मोत्सव में सोहा को उनकी किताब ‘द पेरील्स ऑफ बिइंग मॉडरेटली फेमस’ के लिए एक्सिलेंस इन राइटिंग ऑन सिनेमा अवॉर्ड से नवाजा गया था. सोहा ने कहा, यह पुरस्कार प्राप्त करना अविश्वसनीय सम्मान है. बतौर कलाकार मैं 12-13 वर्षो तक इस उद्योग जगत का हिस्सा रही हूं लेकिन मेरे लिए लेखन के लिए पहचाना जाना बहुत ही सुखद अनुभूति है.


View this post on Instagram

At the @worldforallanimaladoptions annual adoptathon today

A post shared by Soha (@sakpataudi) on

अभिनेत्री सोहा अली खान का कहना है कि रूतबे वाले परिवार से ताल्लुक होने के बावजूद वह अपनी खुद की शख्सियत से ही जुड़े रहना चाहती हैं. सोहा का कहना है कि वह शोहरत या प्रसिद्धि को ज्यादा तवज्जो नहीं देती. सोहा मशहूर अभिनेत्री शर्मिला टैगोर और दिग्गज मंसूर अली खान पटौदी की बेटी और अभिनेता सैफ अली खान की बहन हैं. यह पूछे जाने पर कि एक अभिनेत्री होने के नाते आखिर ग्लैमर और इंडस्ट्री की चकाचौंध से वह उतनी जुड़ी हुई क्यों नहीं हैं?

सोहा ने मेरा हमेशा से हर चीज को लेकर अलग दृष्टिकोण रहा है. मैं शोहरत को अधिक तवज्जो नहीं देती. मैं समझती हूं कि पैसा जरूरी है क्योंकि खुद की पसंद के लिए वित्तीय आजादी होनी जरूरी है. मुझे अपनी शर्तो पर जीने और अच्छी जीवनशैली को बनाए रखने के लिए पैसा चाहिए लेकिन यह सिर्फ वहीं तक ही सीमित है. मैं पैसे को लेकर पागल नहीं हूं. शोहरत मेरे व्यक्तित्व का मेन एलामेंट नहीं हो सकता क्योंकि आज जो भी स्टार है, उसे कल भुला दिया जाएगा.