बिहार की एक अदालत ने बुधवार को मुजफ्फरपुर जिले के एक थाना प्रभारी को आदेश दिया कि सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने के आरोप में बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान सहित सात अन्य कलाकारों पर एफआईआर(FIR) दर्ज कर मामले की जांच की जाए. मुजफ्फरपुर कोर्ट ने सलमान और उनके प्रॉडक्शन में बन रही फिल्म ‘लवरात्रि’ के खिलाफ दायर शिकायत पर सुनवाई करते हुए यह आदेश दिया है.

मजिस्ट्रेट शैलेंद्र राय ने वकील सुधीर ओझा द्वारा दायर एक परिवाद पत्र पर सुनवाई करते हुए मिठनपुरा थाना प्रभारी को फिल्म अभिनेता सलमान खान, वरीना हुसैन, आयुष शर्मा सहित सात कलाकारों के खिलाफ IPC की धारा 120 बी, 295 (क), 298, 153 तथा 153 (ए) के तहत एफआईआर दर्ज कर पूरे मामले की जांच करने का आदेश दिया है.

बता दें कि सलमान खान प्रोडक्शन हाउस की फिल्म लवरात्रि को लेकर सलमान खान के खिलाफ वकील सुधीर ओझा ने मुजफ्फरपुर अदालत में 6 सितंबर को एक परिवाद पत्र दायर किया था. इसमें सलमान खान और प्रोडक्शन कंपनी की फिल्म लवरात्रि की टीम पर संप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने का आरोप है.

शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया है कि आगामी पांच अक्टूबर को दुर्गा पूजा के समय रिलीज की जाने वाली इस फिल्म का निर्माण नवरात्रि त्योहार का मखौल उड़ाकर हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए एक साजिश के तहत किया गया है. ओझा ने बताया कि इस परिवाद पत्र में सलमान खान सहित फिल्म के अभिनेता आयुष शर्मा, अभिनेत्री वरीना हुसैन, निर्देशक अभिराज मीनावाला सहित कुल सात लोगों को आरोपी बनाया गया है.