Salman Khan girl friend Somy Ali wanted to get married love affair controversy-नब्बे के दशक में बॉलीवुड सुपरस्टार सलमान खान संग रिलेशनशिप में रहने को लेकर काफी सूर्खियां बटोर चुकीं पाकिस्तान में जन्मीं अभिनेत्री सोमी अली का कहना है कि बॉलीवुड में उनका सफर काफी छोटा रहा है और वह इस बात को मानती है कि प्यार के चलते उन्होंने कई ऐसे फैसले लिए हैं, जिन्हें अब वह अपनी गलती मानती हैं. फिलहाल मयामी में रहने वाली अभिनेत्री ने आगे कहा कि उन्हें कभी ऐसा नहीं लगा कि वह एक्टिंग की दुनिया में फिट हो सकती है. सन 1991 में मुंबई पहुंची सोमी ने 1999 में ही भारत छोड़ दिया था. इसके बाद उन्होंने ‘नो मोर टियर्स’ के नाम से अपने एक एनजीओ की शुरुआत की, जिसमें घरेलू हिंसा का शिकार हो रहीं महिलाओं को बचाने का काम किया जाता है. Also Read - Monalisa Hot Photo: मोनालिसा की कातिल अदाओं से फैंस हुए 'Bold', भोजपुरी एक्ट्रेस की हॉटनेस से भरी तस्वीरें वायरल

सोमी ने  बताया, “मैं बेशक खुद को एक बहुत बड़ी बॉलीवुड स्टार नहीं कहूंगी. मेरे इस सफर की शुरुआत खुशकिस्मती से हुई थी. जब मैं मुंबई आई थी, तब मैं एक टीनएजर थी और मुझे अब भी इस बात से हैरानी होती है कैसे मैंने बड़े-बड़े स्टार्स संग 10 फिल्में कर डाली, जबकि एक्टिंग में अपना करियर बनाने का मेरा कोई इरादा ही नहीं था. बस यही कहूंगी कि उस वक्त मैं काफी भोली थी, आसानी से लोगों की बातों में आ जाती थी, बचपना था मेरे अंदर. जब कोई इंसान मेरे प्रति वफादार रहने की बात करता था, तो मैं आसानी से उसके झांसे में आ जाती थी.” Also Read - Janhvi Kapoor Birthday: Mahesh Babu के साथ होने वाला था Janhvi Kapoor का डेब्यू, मां Sridevi की तरह करवा चुकी हैं ब्यूटी सर्जरी!

सोमी ‘अंत’ (1994), ‘यार गद्दार’ (1994), ‘आओ प्यार करें’ (1994), ‘आंदोलन’ (1995) और ‘चुप’ (1997) जैसी कुछ और फिल्मों का हिस्सा रही हैं. Also Read - Gandii Baat Fame Anveshi Jain की तस्वीरों ने मचाया तहलका, खुद से करती थीं इतनी नफरत फिर...

सोमी ने आगे कहा, “सच्चे प्यार की तलाश में मैंने कई गलतियां की है, जो कि मुझे कभी मिला ही नहीं. अच्छी बात यह है कि मुझे इसका कोई पछतावा नहीं है क्योंकि मैंने चीजें अपने मन मुताबिक की है, नतीजा चाहे कुछ भी क्यों न हो और मुझे कभी किसी लेबल की भी फिक्र नहीं रही थी. मैं बोल्ड थी, लेकिन भोली भी थी. मैं समझदार थी, लेकिन फिर भी खुद को किसी ऐसी परिस्थिति में लाकर खड़ा कर देती थी, जो कि बचपना की हद होती थी. कुल मिलाकर 16 से 24 साल तक का मेरा सफर जिंदादिली से लबरेज, कुछ दर्दभरी, तमाम ऊंच-नीच से भरपूर रहा है. साल 1999 के दिसंबर में अपने रिलेशनशिप को खत्म कर मैं वापस आ गई, जिसके लिए ही मैं इंडिया गई थी.”