salman khan slashes on violent people- लॉकडाउन के दौरान कई लोग हिंसक हो गए हैं. नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं. यही नहीं गली-मोहल्ले में जो डॉक्टर्स और पुलिस उनके भले के लिए काम कर रहे हैं.वे उनपर पथराव कर रहे हैं. सलमान खान ऐसे लोगों पर भड़क गए हैं. उन्होंने एक वीडियो जारी कर लोगों को समझाने की कोशिश की है कि ये सब उन्हीं की जान बचाने के लिए किया जा रहा है.अपने वीडियो में सलमान खान ने कहा, “अब जिंदगी का बिग बॉस शुरू हो गया है. Also Read - झारखंड में नक्सलियों ने किया आईडी ब्लास्ट, चार पुलिसकर्मी घायल

सलमान ने कहा कि डॉक्टर-पुलिस अपनी जान जोखिम में डालकर आपके लिए काम कर रहे हैं औऱ आप हैं कि उनके साथ ऐसा व्यवहार कर रहे हैं. सलमान बताया कि वे दो दिन के लिए अपने फॉर्म हाउस आए थे लेकिन उन्हें क्या पता था कि ये कोरोना फैल जाएगा. लॉकडाउन हो जाएगा. हम फंस गए. फिर सोचा ये हमारे लिए ही तो है. हमने एक रूल बनाया कि कोई ना अंदर आएगा. ना यहां से बाहर जाएगा. बाहर पुलिस का पहरा है. वे बहुत अच्छा काम कर रहे हैं. Also Read - कभी मां नहीं बनेंगी कविता कौशिक बोलीं- अभी हम खाली जगह...

सलमान ने लोगों को समझाते हुए कहा कि किसी भी बीमारी में रिजल्ट पॉजेटिव होना बहुत ही दुखद है. वो भी उस बीमारी में जिसका कोई इलाज ही नहीं है. लेकिन उससे भी बुरा है इस हालत में अपना धेर्य खो देना. जो इस निगेटिव हैं और अपना ख्याल नहीं रख रहे हैं तो वे जल्द पॉजेटिव हो जाएंगे इसकी गारंटी है. फिर वे अपने खानदान को- फिर मोहल्ले को. शहर को..फिर पूरे हिंदुस्तान को नुकसान पहुंचाएंगे.

आखिर कहा क्या है सरकार ने???घर से ना निकलो. पार्टी ना करो. भीड़ जमा ना करो. पूजा घर पर करो. नमाज घर पर पढ़ो. एक्टर ने कहा कि बचपन में यही पढ़ा था भगवान हम सबके अंदर हैं. अगर परिवार के साथ अल्लाह और भगवान के घर जाना है तो निकलो घर से बाहर.

सलमान ने कहा कि डॉक्टर्स 18…18 घंटे आपके लिए काम कर रहे हैं. ये वायरस जात-पात, अमीरी-गरीबी. धर्म. उम्र देखकर नहीं आता. मैं कुछ ऐसे लोगों को जानता हूं तो पहले बिल्कुल भी घर से बाहर नहीं निकलते थे लेकिन जबसे लॉकडाउन हुआ है उन्होंने घर ने जान-बूझकर निकलना शुरू कर दिया है. कमाल है! जो लोग आपकी जान बचाने आ रहे हैं. आप उनपर पत्थर फेंक रहे हैं. अस्पताल में इलाज करवाने के लिए भर्ती करवाया है तो वहां से भाग रहे हो. भाग कर जाओगे कहां?”सलमान खान ने अपने वीडियो में आगे कहा कि ऐसी नौबत न आ जाए कि आप लोगों को समझाने के लिए सेना बुलानी पड़े.