बॉलीवुड खलनायक संजय दत्त की ज़िन्दगी किसी से छुपी हुई नहीं हिया। उनकी लाइफ किसी बॉलीवुड फिल्म से कम नहीं है। संजय दत्त बहुत बड़े परिवार से ताल्लुक रखते हैं लेकिन उन्होंने जितने उतार चढ़ाव अपनी ज़िन्दगी में देखें हैं उतने शायद ही किसी ने देखे हो। जेल में सालों बिताना हो या ड्रग्स के लत में ज़िन्दगी बर्बाद करना हो, इस खलनायक की ज़िन्दगी किसी भी फिल्म की तरह ट्विस्ट और टर्न से भरी पड़ी है और यही वजह है जो संजय दत्त की ज़िन्दगी पर अब फिल्म बन रही है जिसमें उनका किरदार निभा रहें हैं रणबीर कपूर। यूँ तो फिल्म रिलीज़ होने में काफी वक़्त है लेकिन संजय ने अपनी ज़िन्दगी ने उन काले पन्नों हाल ही में एक प्रेस कांफ्रेंस में खोल दिया। संजय दत्त हाल ही में यंग फिक्की लेडीज ओर्गेनाईजेशन एवनेट में चीफ गेस्ट बन पहुंचे थे जहाँ उन्होंने आज की युवा पीढ़ी को अपने ड्रग्स की लत के बारे में बताया।

संजय दत्त ने कहा “मैं तभी से ड्रग्स पर था जब से कैंसर के लिए मेरी माँ का इलाज चल रहा था। फिल्म ‘रॉकी’ बनी थी और मुझे याद है की मुझे इतनी बुरी लत थी उस वक़्त की एक बार मैंने 1 किलो हिरोइन को अपने जूतों में छुपाकर सफ़र किया था। मेरी दो बहने भी मेरे साथ उसी फ्लाइट में थी। उस वक़्त एअरपोर्ट पर चेकिंग इतनी कड़क नहीं होती थी। आज जब मैं उस दिन के बारे में सोचता हूँ तो डर जाता हूँ। मैं पकड़ा जाता तो ठीक था लेकिन मेरी बहनों का क्या? ड्रग्स आपके साथ ये करता है। आप ना अपने परिवार की परवाह करते हैं और ना ही किसी और चीज़ की”। यह भी पढ़ें: Revealed!!! संजय दत्त का हुआ पर्दाफाश, संजय की तिरंगे को सलामी देशभक्ति नहीं थीं…

संजय ने एक और घटना का ज़िक्र करते हुए बताया “मैं बहुत ज्यादा कोकेन किया करता था और कोकेन आपको ऊपर ले जाता है। आपको निचे आने के लिए दारु पीनी पड़ती है। एक दिन मैं हाई होकर घर आया, शराब पीली और सोने के लिए चला गया। जब मैं उठा तो मैंने नौकर से खाने के लिए कुछ मांगा और उसने मुझे कहा की ‘बाबा आप दो दिन बाद खाना खा रहे हैं’। मैंने खुद को शीशे में देखा और महसूस किया की अब मैं 100% मरने वाला हूँ और उस वक़्त मैंने अपने पिता से मदद मांगी”। यह भी पढ़ें: आख़िरकार संजय दत्त और सलमान खान का होगा भरत मिलाप

संजय दत्त ने ड्रग्स को शरू करने की वजह भी बताई “मैंने ड्रग्स लेना शुरू किया क्योंकि मैं लड़कियों से बात नहीं कर पाता था। किसी ने मुझे कहा की अगर तुम ये ट्राई करोगे तो लड़कियों से बात कर पाओगे, इसीलिए मैंने ट्राई किया और काम भी हुआ। मैं आज की युवा पीढ़ी से ये कहना चाहता हूँ की मैंने इस चीज़ की वजह से बहुत कुछ झेला है। अच्छा काम करो और सराहना पाओ”.