बॉलीवुड एक्टर संजय दत्त को जेल से मिली १४ दिन के पैरोल की अवधि आज ख़त्म हो गई है और अब उन्हें वापिस पुणे के येरवडा जेल जाना पड़ेगा। सूत्रों के मुताबिक संजय दत्त ने अपने पैरोले ख़तम होने के एक दिन पहले अपनी छुट्टियों को बढ़ाने की अर्जी दी थी लेकिन अभी तक उसका कोई जवाब नहीं आया है। संजय दत्त के जेल से बार बार आने जाने पर हमेशा से सवाल उठते आए है तो ऐसे में उनके पैरोल की अवधि बढ़ाए जाने की सम्भावना कम ही नज़र आ रही है। (यह भी पढ़ें : जेल जाने ने मूड में नहीं हैं संजय दत्त, पैरोले अवधि बढ़ाने की फिर दी अर्जी)

जेल विभाग के एक अधिकारी के मुताबिक संजय दत्त ने जेल से आने के कुछ दिन बाद ही पैरोल अवधि बढ़ाने के लिए आवेदन दिया था जिसपर अभी तक विचार हो रहा है। संजय अभी तक अधिकारियों के जवाब का इंतज़ार कर रहे थे, लेकिन अब तक जवाब ना मिलने की वजह से संजय को आज ही जेल वापस जाना पड़ेगा। (यह भी पढ़ें : जेल से छुट्टी लेकर संजय दत्त कर रहें है पार्टी)

संजय २४ दिसम्बर को अपने परिवार के साथ नया साल मानाने के लिए जेल से छुट्टी लेकर घर आए थे, जिसके 2 दिन बाद ही महाराष्ट्र सरकार ने उनको बार बार मिल रही छुट्टी के जांच का आदेश दिया था। (यह भी पढ़ें : संजय दत्त: ‘जेल में १८ किलो वजन घटा मेरा’)

१९९३ में हुए मुंबई बम ब्लास्ट मामले में दोषी पाए गए संजय दत्त ने इसके पहले अक्टूबर २०१३ में अपनी तबियत ख़राब होने के आधार पर जेल से २८ दिन की छुट्टी ली थी, उसके बाद दिसम्बर में अपनी पत्नी मान्यता की तबियत ख़राब होने की वजह देकर फिर २८ दिन की छुट्टी लेकर बाहर निकले। संजय की लम्बी छुट्टियाँ यहीं नहीं रूकती। वो जनवरी २०१४ में भी पत्नी की तबियत ख़राब होने की वजह से २८ दिन के लिए जेल से बाहर थे। संजय मई २०१३ से मई २०१४ के बीच ११८ दिन के पैरोल पर जेल से बाहर रह चुके हैं। यानि १२ महीनो में से करीब 4 महीने संजय जेल के बाहर रहें।