बॉलीवुड की मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान ने कास्टिंग काउच पर अपने विवादित बयान के बाद माफी मांग ली है. दरअसल, कास्टिंग काउच को लेकर एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा था, ‘ये सब तो बाबा आदम के जमाने से चला आ रहा है. हर लड़की पर कोई न कोई हाथ साफ करने की कोशिश करता है.सरकार के लोग भी करते हैं. फिर आप लोग फिल्म इंडस्ट्री के पीछे क्यों पड़े रहते हो. फिल्म इंडस्ट्री कम से कम रोटी तो देती है, ऐसे ही रेप करके छोड़ तो नहीं देती.’ इस बयान पर तूल पकड़ता देख सरोज ने कहा- मुझे खेद है. मैं माफी मांगती हूं.

सरोज खान ने कहा था, ‘ये सब लड़की के ऊपर होता है कि वो क्या चाहती है. अगर वो किसी के हाथ नहीं आना चाहती तो ना आए. ‘तुम उसके हाथ में नहीं आना चाहती हो तो नहीं आओगी. तुम्हारे पास आर्ट है तो तुम क्यों बेचोगी अपने आप को. फिल्म इंडस्ट्री को कुछ मत कहना,वो तुम्हारी माई-बाप है.’

सरोज खान के बयान पर लोगों का रिएक्शन

सरोज खान अक्सर अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहती हैं. सरोज खान के इस बयान पर लोगों ने खासी नाराजगी जताई है. एक यूजर ने कमेंट बॉक्स में लिखा, अनपढ़ लेडी का जवाब और क्या होगा? वहीं एक अन्य यूजर ने लिखा, जहां से हम सीखते हैं देखो वहां के लोग क्या सोचते हैं. लोगों ने सरोज के इस बयान को शर्मनाक बताया है. बता दें,  पिछले दिनों उनके कोरियोग्राफ किए गाने ‘एक दो तीन’ को फिल्म बागी2 के लिए रिक्रिएट किया गया. इस बात से सरोज खान काफी नाराज हो गई थीं.पहले तो उन्होंने इस पर कोई भी बयान देने से मना कर दिया. यहां तक कि गाने पर केस करने की बात भी सामने आई थी.

Related image

निर्मला से कैसे सरोज खान बनीं यह मशहूर कोरियोग्राफर
सरोज खान का जन्म 22 नवंबर 1948 को किशनचंद सद्धू सिंह और नोनी सद्धू सिंह के घर हुआ था. निर्मला के तौर पर जन्म होने के बाद सरोज का परिवार विभाजन के बाद भारत आ गया था. सरोज ने तीन साल की उम्र से ही काम करना शुरू कर दिया था. पहली बार वे नजराना फिल्म में श्यामा के रूप में नजर आई थीं. इसके बाद वे 1950 के दशक में वो बैकग्राउंड डासंर का काम करने लगीं, फिर 13 साल की उम्र में उनकी शादी बी सोहनलाल से हो गई जो पहले से शादीशुदा थे. उन्होंने अपने पति से डांस की कला सीखी. इसके बाद वो खुद कोरियाग्राफर बनने के लिए चल पड़ीं. खान ने पाकिस्तान को दिए एक इंटरव्यू में बताया था कि उन्होंने अपनी मर्जी से इस्लाम को कुबूला था. वो आज तक मुस्लिम धर्म का पालन करती हैं.