बॉलीवुड फिल्मों के दिग्गज अभिनेता शशि कपूर का जन्म 18 मार्च 1938 को हुआ था. अगर वो आज हमारे बीच होते तो रविवार को अपना 82वां जन्मदिन मना रहे होते. शशि अपने जमाने के मशहूर अभिनेता पृथ्वीराज कपूर के बेटे थे. अभिनेता राज कपूर व शम्मी कपूर उनके बड़े भाई हैं. शशि कपूर बचपन से ही एक अभिनेता बनना चाहते थे. उनकी पहली फिल्म ‘आग’ थी. जिसे राजकपूर ने बनाई थी. Also Read - सुहाना की रगों में दौड़ रहा है इस चीज का जुनून, इंडिया वापस आकर भी करती है ये काम और...

1951 में रिलीज हुई राजकपूर की एक दूसरी फिल्म ‘आवारा’ में भी शशि ने बतौर चाइल्ड एक्टर के रूप में काम किया था. शशि कपूर को लीजेंड माना जाता है. उन्होंने करीब 40 से ज्यादा सालों तक अभिनेता, निर्माता और निर्देशक के रूप में काम किया. Also Read - इरफान के फैंस के लिए खुशी की है बात! ऑनलाइन रिलीज हुई अंग्रेजी मीडियम

Also Read - 'कुंडली भाग्य' के विलेन संजय गगनानी की Naagin 4 में एंट्री, लॉकडाउन में कर रहे हैं ये काम, देखिए दिलचस्प इंटरव्यू

40 के दशक में फिल्मों में कदम रखने वाले शशि कपूर ने शुरुआत में कई धार्मिक फिल्मों में बाल कलाकार की भूमिकाएं निभाईं. पिता पृथ्वीराज कपूर उन्हें छुट्टियों के दौरान स्टेज पर अभिनय करने के लिए प्रोत्साहित करते थे. 50 के दशक में वह एक थिएटर ग्रुप में शामिल हो गए और उसके साथ ही दुनियाभर की यात्राएं कीं. इसी दौरान उन्हें ब्रिटिश अभिनेत्री जेनिफर कैंडल से प्रेम हो गया और 1958 में मात्र 20 वर्ष की उम्र में उनसे शादी कर ली.

बता दें, शशि की कॉन्ट्रोवर्शियल फिल्मों में सबसे पहला नाम कोनरॉट रुक्स की फिल्म ‘सिद्धार्थ’ का आता है. इस फिल्म में कई आपत्तिजनक सीन थे. लेकिन फिल्म की लीड हीरोइन सिमि ग्रेवाल और शशि कपूर ने बड़ी ही बोल्डनेस से इन सीन्स को किया.

Image result for shashi kapoor with simi garewal

ये फिल्म अंग्रेजी भाषा में रिलीज हुई थी. सिमी ग्रेवाल के न्यूड सीन से बवाल मच गया था. शशि कपूर को उनके सामने हाथ जोड़कर खड़े होना था. ये सीन दो अंग्रेजी पत्रिकाओं के कवर पेज पर छपा था. यह बॉलीवुड का पहला न्यूड सीन था. शशि कपूर के साथ सिमी के इस सीन की वजह से फिल्म को भारत में रिलीज करने की इजाजत नहीं मिली थी.

शशि कपूर की जिंदगी में एक समय ऐसा भी आया था जब उनकी आर्थिक स्थिति खराब हो गई थी । इस बात का जिक्र शशि कपूर के बेटे कुणाल ने अपने एक इंटरव्यू में किया था. कुणाल ने कहा था कि उनके पिता शशि कपूर को 60 के दशक में काम मिलना बंद हो गया था. ऐसे में अभिनेता को अपनी पसंदीदा स्पोर्ट्स कार बेचने की नौबत आ गई थी. और काफी सामान बेचना पड़ गया था. हालत ये हो गई की टॉप एक्ट्रेसेस भी शशि के साथ काम करने से मना करने लगी थीं.

वर्ष 2010 में उन्हें फिल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया. इसके अलावा 2011 में भारत सरकार ने उन्हें पद्मभूषण से सम्मानित किया. शशि की तबीयत काफी समय से खराब चल रही थी. पि‍छले साल 4 दिसंबर को 79 साल की उम्र में उनका निधन हो गया.