बॉलीवुड के एवरग्रीन स्टार शशि कपूर ने सोमवार को मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में अपनी आखिरी सांसें ली. वह 79 वर्ष के थे. छोटा हो या बड़ा शशि कपूर सभी के चहिते थे. उन्होंने कई यादगार फ़िल्में की थी जिसे लोग आज भी बेहद पसंद करते हैं. शशि कपूर का अंतिम संस्कार मंगलवार को दोपहर 12 बजे किया जाएगा. शशि कपूर का पार्थिव शरीर उनके घर पर पहुंचा, घर पर संजय दत्त, अनिल कपूर जैसे कई बड़े सितारें पहुंचे. Also Read - Republic Day 2021 PM Modi Look: गणतंत्र दिवस के लिए इस जगह से मंगवाई गई पीएम मोदी की खास पगड़ी, See Photos

सांताक्रूज हिंदू श्मसान में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया. शशि कपूर को पूरे राजकीय संम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई. Also Read - Republic Day पर पीएम नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को दी बधाई, जानें क्या है आज का कार्यक्रम

अमिताभ बच्चन, सलीम खान, शाहरुख खान, सलमान खान, आमिर खान, अनिल कपूर, ऋषि कपूर, रणधीर कपूर, संजय दत्त, रणबीर कपूर, नसीरुद्दीन शाह, नवाजुद्दीन सिद्दीकी, सुप्रिया पाठक, शक्ति कपूर और सुरेश ओबेराय जैसी बॉलीवुड हस्तियां अंतिम संस्कार के समय उपस्थित थीं. Also Read - जिस सशक्त भारत की कल्पना नेताजी ने की थी आज देश उसी नक्शे कदम पर चल रहा है: पीएम मोदी

amitabh-bachchan-abhishek-bachchan-aishwarya-rai_650x433_41512442999

babita-karisma-kapoor_650x433_61512443198 (1)

krishna-raj-kapoor_650x433_81512443149

neetu-kapoor_650x433_71512443225

ranbir-kapoor_650x433_61512443128

rishi-kapoor_650x433_41512443052

sanjay-kapoor_650x433_51512443312

शशि साहब की मौत की खबर से अमिताभ बच्चन बच्चन काफी दुखी हैं. उन्होंने कहा- मैंने अपना भाई खो दिया है. वहीं शशि कपूर की मौत की खबर सुनते ही ऋषि कपूर ने दिल्ली में चल रही अपनी फिल्म ‘राजमा चावल’ की शूटिंग बीच में ही छोड़ दी और मुंबई पहुंच गए. अस्पताल में शशि कपूर को देखने कपूर फैमिली के सभी मेंबर पहुंचे थे.

शशि कपूर के निधन पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी समेत कई बॉलीवुड हस्तियों ने शोक जताया है.

पृथ्वीराज कपूर के घर में जन्में शशि कपूर का बचपन का नाम बलबीर राज कपूर था. 18 मार्च 1938 में जन्में शशि कपूर ने हिन्दी सिनेमा की 160 फिल्मों (148 हिंदी और 12 अंग्रेजी) में काम किया. साल 2011 में शशि कपूर को भारत सरकार ने पद्म भूषण और 2015 में दादासाहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया था.