मुंबई: दिग्गज फिल्मकार शेखर कपूर ने पटकथा लेखक-निर्देशक आर. बाल्की द्वारा परिवारवाद पर छिड़ी बहस के बीच स्टार किड्स (फिल्मी कलाकारों के बच्चों) का बचाव करने को लेकर प्रतिक्रिया दी है. कपूर ने शुक्रवार को ट्वीट किया, “आपका बहुत सम्मान करता हूं बाल्की, लेकिन एक बार फिर कल रात मैंने ‘काय पो छे’ देखी. उस समय तीन बिल्कुल युवा कलाकार थे और हर किसी ने शानदार अभिनय किया.” Also Read - अनुभव सिन्हा ने नेपोटिज्म पर कही बड़ी बात, फेवरटिज्म और बुली करना तो....

कपूर ने यह ट्वीट बाल्की द्वारा बॉलीवुड में नेपोटिज्म को लेकर दिए बयान के बाद किया. आर. बाल्की ने हिंदुस्तान टाइम्स को दिए एक साक्षात्कार में कहा था, “सवाल यह है कि क्या उनको (स्टार किड्स) अनुचित या कोई बड़ा फायदा है? हां, हर पहलू के नफा-नुकसान होते हैं, लेकनि मैं एक सीधा सवाल पूछना चाहूंगा? मुझे आलिया भट्ट और रणबीर कपूर से कोई बेहतर कलाकार बता दीजिए और हम बहस करेंगे. यह इन जैसे कुछ कलाकारों के साथ अनुचित है जो संभवत: कुछ बेहतरीन कलाकारों में से हैं.” Also Read - आमिर खान के भाई फैजल का करण जौहर पर आरोप, बोले- पार्टी में सरेआम मुझे नीचा दिखाया था

पटकथा लेखक और फिल्म एडिटर अपूर्व असरानी ने भी बाल्की के कमेंट पर प्रतिक्रिया दी. अपूर्व ने ट्वीट किया, “मनोज बाजपेयी, राजकुमार राव, विक्की कौशल, आयुष्मान, कंगना रनौत, प्रियंका चोपड़ा, तापसी पन्नू, विद्या बालन, ऋचा चड्ढा, कई अन्य लोग भी अगर हम ए लिस्ट फिल्म परिवारों से परे देखे तो बेहतरीन कालकार है. मुझे रणबीर और आलिया पसंद हैं. लेकिन सिर्फ वे ही अच्छे कलाकार नहीं हैं.”

उन्होंने आगे लिखा, “पंकज त्रिपाठी, गजराज राव, अमित साध, जयदीप अहलावत, रसिका दुग्गल, स्वरा भास्कर, श्वेता त्रिपाठी, संजय मिश्रा, नीना गुप्ता, दिव्या दत्ता, मानव कौल, नवाजुद्दीन, जीतू..हे भगवान, हमारे पास जो प्रतिभाएं हैं मैं उनके नाम गिनाना जारी रख सकता हूं. अब 3-4 नामों पर ही शोर मचाना बंद करो.”