Mahatma Gandhi Special: सोच और जीने का नजरिया बदलती है फिल्म 'द अदर पेयर' की कहानी

फिल्म को सराह रोजिक ने डायरेक्ट किया है

Updated: January 30, 2018 10:24 AM IST

By Vivek Kumar

Short Film The Other Pair based on a situation of Gandhi's Life | Mahatma Gandhi Special: सोच और जीने का नजरिया बदलती है फिल्म 'द अदर पेयर' की कहानी

भारतीय इतिहास में 30 जनवरी का दिन काफी खास रहा है. हिंदी सिनेमा में अब तक महात्मा गांधी के जीवन पर ढेरों फ़िल्में बन चुकी हैं जिन्हें लोगों ने काफी पसंद किया. ऐसी ही एक शार्ट फिल्म है जिसका नाम है ‘द अदर पेयर’ जो गांधी जी की लाइफ से जुड़ी है. फिल्म को सराह रोजिक ने डायरेक्ट किया है.

Also Read:

फिल्म की कहानी की शुरुआत एक रेलवे स्टेशन से होती है जहां एक गरीब बच्चा है जिसके पास एक टूटी हुई चप्पल है. जिसे वह बार-बार बनाने की कोशिश करता है ताकी वह उसे पहन कर चल सके. इस बीच अचानक उसके सामने से एक और बच्चा आता है जिसने हाल ही में नए जूते ख़रीदे हैं और वह उन्हें बार-बार साफ करता है. गरीब बच्चे की नजर उस बच्चे के चमकते हुए जूते पर पड़ती है. जिसे वह बड़ी ही हिफाजत से बचा-बचा कर चलता है.

इस बीच अचानक उस बच्चे की ट्रेन आ जाती है और वह आपाधापी में अपने एक पांव के जूते को ट्रेन के नीचे गिरा देता है. जिसे देखकर वह गरीब बच्चा उसके जूते देने के लिए उसके पीछे भागता है. लेकिन काफी कोशिश के बाद भी वह गरीब बच्चा उस बच्चे को जूता देने में कामयाब नहीं हो पाता. जिसके बाद ट्रेन पर सवार उस बच्चे ने जो फैसला लिया वो आपको महात्मा गांधी की याद दिलाएगा.. ‘फिल्म की कहानी बतलाती है कि हमें बिना किसी उम्मीद के दूसरों की मदद करनी चाहिए’

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें मनोरंजन की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 30, 2018 10:15 AM IST

Updated Date: January 30, 2018 10:24 AM IST