नई दिल्ली: मुल्क और आर्टिकल 15 जैसी सुपरहिट फिल्में देने के बाद मशहूर फिल्म निर्माता अनुभव सिन्हा एक और धमाकेदार फिल्म की तैयारी में जुटे हुए हैं. ‘थप्पड़’ (Thappad) फिल्म अपने पोस्टर रिलीज के बाद से ही चर्चा का विषय बनी हुई है. इस फिल्म में तापसी पन्नू (Taapsee Pannu) मुख्य किरदार को निभाते हुए नज़र आएंगी. अनुभव सिन्हा और तापसी की यह इस मोस्ट अवेटेड फिल्म अपनी कहानी के चलते लोगों के बीच आकर्षण का केंद्र बना हुआ है. Also Read - बॉलीवुड को एक और क्षति, संगीतकार वनराज भाटिया का निधन, स्मृति ईरानी...फरहान अख्तर ने दी श्रद्धांजलि

फिल्म का ट्रेलर 31 जनवरी को रिलीज किया गया था और तब से ही इसे आज के वक्त की सबसे ज़रूरी फिल्म मानी जा रही है. हर तरह की प्रतिक्रियाओं के बीच देश की केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) ने भी इस फिल्म को लेकर अपनी राय ज़ाहिर की है. Also Read - CoronaVirus Death: सलोन के BJP MLA दल बहादुर कोरी की कोरोना से मौत, सीएम योगी हुए दुखी

  Also Read - RIP Shooter Dadi Chandro Tomar: नहीं रहीं ‘शूटर दादी’ चंद्रो तोमर, कोरोना के चलते हुआ निधन; तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर ने जताया शोक

View this post on Instagram

 

How many think “ki maar pitai sirf gareeb auraton ke hi pati karte hai” How many believe “ki educated aadmi kabhi haath nahi uthata” How many tell their girls their daughter in laws“ koi baat nahi beta aisa to humare saath bhi hua lekin dekho aaj kitne khush hai“ I might not support the political ideology of the director or may disagree with some actors on some issues but this is a story that I will definitely watch and hope people watch it with their families. It’s not ok to hit a woman … not even a slap … not even JUST one slap Courtesy: @tseries.official

A post shared by Smriti Irani (@smritiiraniofficial) on

स्मृति ईरानी ख़ुद एक अभिनेत्री के रूप में जानी जाती रही हैं. उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से इस फिल्म के ट्रेलर को शेयर करते हुए लिखा, “कितनों ने सुना होगा ‘औरत को ही एडजस्ट करना पड़ता है..’ कितनों ने सोचा होगा ‘कि मार पिटाई सिर्फ गरीब औरतों के ही पति करते हैं..’ कितनों ने माना होगा ‘शिक्षित आदमी कभी हाथ नहीं उठाता’, कितनों ने अपनी लड़कियों, बहुओं से कहा होगा, ‘कोई बात नहीं बेटा ऐसा तो हमारे साथ भी हुआ है। लेकिन देखो आज कितने खुश हैं’.”

उन्होंने आगे लिखा, “मैं भले ही निर्देशक की राजनीतिक विचारधारा से सहमत नहीं हो सकती या कई कलाकारों से कुछ मुद्दों पर असहमत हो सकती हूं, लेकिन इस कहानी को मैं निश्चित ही देखूंगी और आशा है कि लोग भी इसे अपने परिवार के साथ देखेंगे। महिला पर हाथ उठाना उचित नहीं है.. एक थप्पड़ भी नहीं..एक भी थप्पड़ नहीं”.

घरेलू हिंसा जैसे गंभीर मुद्दे पर बनी ये फिल्म 28 फरवरी 2020 को रिलीज होने वाली है.