अभिनेत्री सोहा अली खान का कहना है कि आज के समय में सीधी साफ बात बोलना बहुत मुश्किल है क्योंकि अब सहनशीलता नहीं है, विशेषकर सोशल मीडिया जगत में. सोहा ने कहा, “मुझे लगता है कि आज के वक्त में किसी के लिए भी साफ बोलना बहुत मुश्किल है. हम अभिव्यक्ति या भाषण का आजादी की बात तो करते हैं लेकिन जो लोग बोलते हैं, हम उनके प्रति सहनशीलता नहीं दिखाते..खासकर सोशल मीडिया पर क्योंकि आप देख सकते हैं कि जब आप कुछ कहते हैं तो आप बहुत से लोगों के निशाने पर आ जाते हैं.”

Living in a bubble

A post shared by Soha (@sakpataudi) on

40 वर्षीय अभिनेत्री ने कहा कि कई बार घृणा शब्दों के स्तर तक होती है लेकिन कभी-कभार यह बढ़कर क्रूरता में बदल जाती है.

Life in the pink lane …

A post shared by Soha (@sakpataudi) on

उन्होंने कहा, “नफरत का प्रतिघात होता है. कभी-कभार यह शाब्दिक स्तर पर बना रहता है और कभी-कभार ये वास्तव में हिंसा में तब्दील हो जाता है, जिसके कारण लोगों को अपनी नौकरियां खोनी पड़ती है और परिणाम भुगतने पड़ते हैं. यह चिंता की बात है कि किसी को साफ बोलने से पहले दो बार सोचना पड़ता है, जो कि दुखद है.”

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.