मुंबई, 27 मार्च | अभिनेत्री सनी लियोन कहती हैं कि महिलाओं से दुर्व्यवहार करके और उन्हें अपमानित करके एक मर्द ‘कूल’ नहीं बल्कि राक्षस बन जाता है। सनी ने एक बयान में कहा, “मैं भारत से नहीं हूं। मैं कभी भी ऐसी संस्कृति में नहीं रही हूं, जिसमें आजाद ख्याल का होना सामान्य बात नहीं है। मैं बस सभी पुरुषों से यह कहना चाहती हूं कि आप अगर एक मर्द हैं, जो एक महिला की आजादी पर पहरे लगा रहे हैं, तो यह ठीक नहीं है फिर चाहे आप एक कस्बे से हों या एक बड़े शहर से।” यह भी पढ़ें–सनी लियॉन ने उठाई बलात्कार के खिलाफ अपनी आवाज़

उन्होंने कहा, “इस तरह के व्यवहार से आप कूल नहीं बल्कि राक्षस बन जाते हैं।” 33 वर्षीया सनी का मानना है कि गलत चीज देखकर आंख फेर लेना या चुप्पी साध लेना एक अपराध है। उन्होंने कहा, “मैं पुरुषों से कहना चाहती हूं कि गलत होता देख आप विरोध करें। चुप्पी साध लेना एक अपराध जैसा है। आपको लड़कियों को समान आजादी दिलाने के लिए कुछ बोलना और उनकी मदद करनी चाहिए। अगर आपके दिल में उनके लिए इज्जत है, तो आप उनके लिए आवाज जरूर बुलंद करेंगे।”