मुंबई: अभिनेत्री सनी लियोनी ने जेएनयू में हुए हमले पर कहा कि वह शांति की पक्षधर हैं और उनका मानना है कि संवाद से समस्या का निदान मिल सकता है. अभिनेत्री ने कहा कि असल में जिस चीज पर लोग लड़ रहे हैं, उस पर वह अपना मत प्रकट करना नहीं चाहती लेकिन हिंसा के मुद्दे पर बोलना चाहती हैं.

भाजपा नेता मुरली मनोहर जोशी का बड़ा बयान, कहा- जेएनयू के कुलपति को हटाओ

लियोनी ने बुधवार को संवाददाताओं से कहा कि अगर हम हिंसा बंद कर एक दूसरे से बात करें तो मुझे लगता है कि बहुत सी चीजें हैं जो हम कर सकते हैं. क्योंकि हिंसा ऐसी चीज है जो हमारे बच्चे देखते और सीखते हैं. उन्होंने कहा कि हिंसा का एकल अस्तित्व नहीं होता और इसके दूरगामी प्रभाव होते हैं.

राष्ट्रपति भवन की ओर मार्च करते JNU के प्रदर्शनकारी छात्र पुलिस हिरासत में, लाठीचार्ज भी हुआ

उन्होंने कहा कि हिंसा केवल उस एक व्यक्ति को प्रभावित नहीं करती जिस पर हमला किया जाता है. उससे पूरा परिवार प्रभावित होता है क्योंकि हिंसा उन्हें भावनात्मक रूप से चोट पहुंचाती है क्योंकि उनके बच्चे, माता, पिता, बहन को भी चोट पहुंचती है. मैं शांति की पक्षधर हूँ और हिंसा का समर्थन नहीं करती. मुझे विश्वास है कि यहां बिना हिंसा के कोई समाधान निकल आएगा. (इनपुट एजेंसी)