नई दिल्ली: बेहतरीन फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) नहीं रहे. सुशांत सिंह राजपूत ने मुंबई के बांद्रा स्थित अपने फ्लैट में सुसाइड कर ली है. सुशांत सिंह राजपूत के इस तरह से जाने से सभी हैरत में हैं. बॉलीवुड और उनके प्रशसंकों को अभी भी यकीन नहीं हो रहा है कि सुशांत सिंह राजपूत ने ऐसा कुछ कर लिया है. सुशांत सिंह राजपूत कई माह से डिप्रेशन में थे. वह निजी वजहों से परेशान थे. Also Read - Video: सुशांत सिंह राजपूत को बिहार के लोगों की श्रद्धांजलि, अब एक्टर के नाम से जाना जाएगा पूर्णिया का यह चौक

मुंबई पुलिस के अनुसार सुशांत सिंह राजपूत ने रात में अपने एक दोस्त को फोन किया था, लेकिन फ़ोन नहीं उठा. सुशांत आखिरी बार जिस दोस्त से बात करना चाह रहे थे, ऐसा नहीं हो सका. उन्होंने आज सुबह अपनी बहन से बात की थी. 9. 30 बजे के आसपास बहन से बात की थी. फिर आज दोपहर करीब 12. 45 पर उनके घर का निजी साहयक काम के लिए पहुंचा. घर का दरवाजा नहीं खुला. काफी देर तक कोशिश की, इसके बाद निजी सहायक ने पुलिस को सूचना दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने भी दरवाज़ा खटखटाया, लेकिन दरवाज़ा नहीं खुला. Also Read - Dil Bechara Tittle Track: रिलीज हुआ सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म का गाना, इमोश्नल हुए फैन्स

इसके बाद पुलिस ने चाबी वाले बुलवाकर चाबी मिलवाई और दरवाज़ा खोला. इसके बाद सब दंग रह गए. सुशांत सिंह राजपूत का शव पंखे से लटका हुआ था. पुलिस के मुताबिक एक हरे रंग के कपड़े से उनका शव लटका हुआ था. पुलिस ने मौके से कुछ सामान बारामद किया और साथ ले गई है. सुशांत सिंह राजपूत ने कोई सुसाइड नोट भी नहीं छोड़ा है. पुलिस इस घटना की वजह तलाशने का प्रयास कर रही है. Also Read - सुशांत राजपूत केस: सलमान खान, करण जौहर के खिलाफ शिकायत खारिज, कोर्ट ने कही ये बात

कुछ ऐसा था सफ़र
सुशांत सिंह राजपूत ने बॉलीवुड में एक से एक फ़िल्में दी और उनकी कई फिल्मों ने लगातार सफलता हासिल ली. सुशांत ने बहुत जल्दी बॉलीवुड में ऐसी जगह बनाई, जो टीवी की दुनिया से आने के बाद इतनी आसान नहीं होती है. सुशांत सिंह राजपूत बिहार के पटना के रहने वाले थे. 21 जनवरी 1986 को जन्मे सुशांत सिंह राजपूत बिहार के पटना के रहने वाले थे. सिर्फ 34 साल के सुशांत सिंह राजपूत ने बिहार से निकलकर अपनी काबिलियत के दम पर सफलता हासिल की थी. जबकि उनके परिवार और खानदान का ग्लैमर की दुनिया से कोई नाता नहीं था.

सुशांत सिंह राजपूत के पिता सरकारी अफसर थे. सुशांत की प्रारंभिक शिक्षा सेंट लॉरेंस हाई स्कूल पटना में ही हुई थी. इसके बाद वह दिल्ली आ गए थे. दिल्ली के हंसराज मॉडल स्कूल में से की. इसके बाद दिल्ली कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग में दाखिला लिया था. नौकरी करने की बजाय उनका रुझान एक्टिंग की ओर ज्यादा था, लेकिन उनका परिवार इसके लिए राजी नहीं था. फिर भी उन्होंने जिद की. वह एक डांस ग्रुप से जुड़ गए.

सुशांत सिंह राजपूत मशहूर कोरियोग्राफर श्यामक डावर के छात्र रहे. सुशांत ने 2006 के कॉमनवेल्थ गेम्स में भी परफॉर्म किया था. इसके बाद 51वें फिल्मफेयर अवार्ड्स में भी वे बैकग्राउंड डासंर के तौर पर काम कर चुके थे. कई बेहतरीन डांस परफोर्मेंस के बाद और टीवी डांस शो जरा नच के दिखा 2 और झलक दिखला जा 4, झलक दिखलाजा 4 में परफारमेंस दी थी.

इसके बाद उन्हें सबसे पहले एक्टिंग के लिए ब्रेक टीवी शो ‘किस देश में है मेरा दिल’ में मिला. ये सीरियल स्टार प्लस पर आता था. इसके बाद वह ‘पवित्र रिश्ता’ में वह मानव के किरदार में नज़र आए. इस सीरियल से उन्हें खूब पहचान मिली. उन्होंने सीआईडी, कुमकुम भाग्य में अभी अभिनय किया था.

सुशांत सिंह राजपूत को बॉलीवुड में 2014 में फिल्म ‘काई पो चे’ से मौका में मिला. ये उनकी पहली फिल्म थी. ये फिल्म बहुत सफल नहीं रही थी, लेकिन वह बॉलीवुड से जुड़ चुके थे, लेकिन फिल्म ‘काई पो चे’ के लिए सुशांत सिंह राजपूत को बेस्ट डेब्यू अवार्ड मिला था.

सुशांत सिंह राजपूत ने जब ‘शुद्ध देसी रोमांस’ फिल्म की तो उन्हें इससे बड़ी पहचान मिली. उन्हें इसमें नोटिस किया गया. इस फिल्म में उनके साथ परिणीती चोपड़ा थीं. वह आमिर खान की फिल्म ‘पीके’ में भी थे. इस बीच 2016 में आई ‘एमएस धोनी, द अनटोल्ड स्टोरी’ फिल्म सबसे सफल रही और उन्होंने इसमें शानदार एक्टिंग की थी. ये फिल्म भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान रहे महेंद्र सिंह धोनी की जिंदगी भी बनी थी. ये फिल्म सुशांत सिंह के लिए बड़ी सफलता थी. इस फिल्म के लिए उन्हें बेस्ट एक्टर अवार्ड मिला था. 2018 में आई सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म केदारनाथ ने भी सफलता के झंडे गाड़े थे. इसके बाद आई सुशांत सिंह राजपूत ने फिल्म 2019 में आई फिल्म ‘छिछोरे’ में भी शानदार एक्टिंग की थी. ये फिल्म भी सफल रही थी.