Sushant Singh Rajput Case Updates: सुशांत सिंह राजपूत मौत की गुत्थी अब तक नहीं सुलझ सकी है. अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के डॉक्टरों के पैनल ने CBI को सौंपी अपनी रिपोर्ट में कहा कि सुशांत सिंह राजपूत की हत्या नहीं हुई थी, बल्कि यह आत्महत्या का मामला है. AIIMS की रिपोर्ट के बाद शिवसेना का रिएक्शन आया है. शिवसेना (Shiv Sena) के मुख्य प्रवक्ता संजय राउत (Sanjay Raut) ने कहा कि शुरुआत से ही इस मामले में महाराष्ट्र सरकार और मुंबई पुलिस को बदनाम करने की साजिश रची जा रही है. अगर अब सीबीआई जांच पर भी भरोसा नहीं किया जा रहा है, तो हम इससे अवाक हैं.Also Read - Nawab Malik ने फिर कहा, समीर वानखेड़े के मालदीव दौरे की जांच करें, उगाही का पूरा खेल सामने आ जाएगा

Also Read - Maharashtra Red Light Area: महाराष्ट्र के इस इलाके में वेश्यावृत्ति पर लगा प्रतिबंध

सुशांत सिंह राजपूत केस में AIIMS की रिपोर्ट पर न्यूज एजेंसी ANI से बात करते हुए संजय राउत ने कहा, यह डॉ. सुधीर गुप्ता की रिपोर्ट के अनुसार है, जो सुशांत सिंह की मौत के मामले में एम्स फॉरेंसिक मेडिकल बोर्ड के प्रमुख हैं. उनका शिवसेना से कोई राजनीतिक संबंध या कोई संबंध नहीं है. Also Read - सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में महाराष्ट्र की कप्तानी करेंगे CSK के रुतुराज गायकवाड़

इससे पहले मुंबई के पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ने कहा कि पुलिस की जांच पेशेवर थी और पोस्टमॉर्टम करने वाले शहर के कूपर अस्पताल के चिकित्सकों ने भी अपना काम बखूबी किया. पुलिस आयुक्त ने कहा, ‘हम सभी एम्स के इन निष्कर्षों से सहमत हैं.’ बता दें कि एम्स की इस रिपोर्ट ने अभिनेता के परिवार और उनके वकीलों की थ्योरी को खारिज कर दिया है जिसमें यह दावा किया जा रहा था कि उन्हें जहर दिया गया था और गला दबाकर मारा गया था.

बता दें कि AIIMS पैनल ने सीबीआई को अपनी चिकित्सीय-कानूनी राय देने के बाद फाइल बंद कर दी है.. अब सीबीआई उस रिपोर्ट के साथ अपनी जांच की कड़ियों को जोड़ रही है. सूत्रों ने बताया कि AIIMS पैनल ने मुंबई के उस अस्पताल की राय पर अपनी सहमति जाहिर की है, जिसने अभिनेता का पोस्टमार्टम किया था.

बता दें कि एम्स ने ऑटोप्सी रिपोर्ट में मौत का समय दर्ज न होने पर भी सवाल उठाया है, साथ ही कूपर हॉस्पिटल में हल्की रोशनी वाले पोस्टमार्टम रूम की ओर भी इशारा किया गया है. एम्स के एक सूत्र ने बताया कि डॉ. सुधीर गुप्ता की अध्यक्षता वाली फोरेंसिक बोर्ड ने अपनी निर्णायक रिपोर्ट केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को सौंप दी है. बता दें कि 14 जून की रात को कूपर हॉस्पिटल के तीन डॉक्टरों ने मिलकर सुशांत का पोस्टमार्टम किया था.

(इनपुट: भाषा)