मुंबई: अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या (Sushant Singh Rajput suicide) के मामले में फिल्म निर्देशक संजय लीला भंसाली (Sanjay Leela Bhansali) का बयान सोमवार को दर्ज किया जाएगा. एक पुलिस अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. इस बीच, जांचकर्ताओं ने बताया कि वे उस कपड़े की क्षमता की जांच करेंगे जिसका राजपूत ने फांसी लगाने के लिए कथित रूप से इस्तेमाल किया था, ताकि यह पता चल सके कि यह कपड़ा अभिनेता के बराबर वजन उठाने में सक्षम है या नहीं.Also Read - सुशांत सिंह राजपूत पर आधारित फिल्म 'Nyaay: The Justice' सिनामाघरों में होगी रिलीज, हाईकोर्ट ने किया रोक से इनकार

राजपूत (34) का शव 14 जून को बांद्रा स्थित उनके आवास पर लटकता पाया गया था. जांचकर्ताओं के अनुसार अभिनेता ने पंखे से लटककर फांसी लगाने के लिए रात में पहनने वाले हरे रंग के सूती गाउन का इस्तेमाल किया था. पुलिस अधिकारी ने बताया कि बांद्रा पुलिस ने भंसाली को समन जारी किया है. वह सोमवार को जांच में शामिल होंगे और तभी उनका बयान दर्ज किया जाएगा. उन्होंने बताया कि मामले में पेशेवर प्रतिद्वंद्विता की संभावना के पहलू की भी जांच कर रही पुलिस अभिनेता के अवसाद में जाने के कारण का पता लगाने की कोशिश करेगी. Also Read - Porn Film Racket Case: राज कुंद्रा की बढ़ी मुश्‍किल, 4 कर्मचारी गवाह बने, एक्‍ट्रेस गहना वशिष्‍ठ पूछताछ के लिए तलब

भंसाली ने राजपूत को फिल्म में काम करने की पेशकश दी थी, लेकिन तारीखों की समस्या के कारण ऐसा संभव नहीं हो सका, क्योंकि अभिनेता ने एक बड़ी फिल्म निर्माता कंपनी से करार किया था. अधिकारी ने बताया कि पुलिस यह समझने की कोशिश करेगी कि राजपूत ने आत्महत्या जैसा कदम किन हालात में उठाया. पुलिस राजपूत के परिवार के सदस्यों, अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती, कास्टिंग निर्देशक मुकेश छाबड़ा, यश राज फिल्म्स की कास्टिंग निर्देशक शानू शर्मा और अभिनेत्री संजना सांघी समेत 29 लोगों के बयान दर्ज कर चुकी है. Also Read - Mumbai: मुंबई में बार‍िश के बीच बिल्‍ड‍िंग ढहने से तीन लोगों की मौत, 7 घायल

एक जांचकर्ता ने बताया कि अभिनेता की आंत के अलावा पुलिस ने गाउन को भी रासायनिक एवं फोरेंसिक विश्लेषण के लिए फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला में भेजा है और अंतिम फोरेंसिक रिपोर्ट आने में कम से कम तीन दिन और लगेंगे. उसने बताया कि मौत के सही कारण का पता लगाने के लिए फारेंसिक विशेषज्ञ अभिनेता के गले के चारों ओर बने निशान की जांच करेंगे और गाउन की भार वहन करने की क्षमता पता लगाएंगे.

टीवी से अभिनय जगत में कदम रखने वाले राजपूत ने ‘एम एस धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी’, ‘शुद्ध देसी रोमांस’, ‘राबता’, ‘छिछोरे’, ‘केदारनाथ’ और ‘सोनचिड़िया’ जैसी फिल्मों में अभिनय किया था.