नई दिल्ली: महाराष्ट्र सरकार ने मंगलवार को सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में सुप्रीम कोर्ट में कहा कि यह सब हल्लाबोल केवल राजनीति के कारण हो रहा है, क्योंकि बिहार चुनाव इस साल के अंत में है, इसलिए ये सब हो रहा है. महाराष्ट्र सरकार के प्रतिनिधि वरिष्ठ अधिवक्ता ए.एम. सिंघवी ने न्यायमूर्ति ऋषिकेश राय के समक्ष कहा कि बिहार सरकार इस मामले में राज्य चुनाव से पहले केवल राजनीतिक लाभ लेना चाहती है. Also Read - ड्रग चैट में दीपिका का नाम आने पर कंगना ने किया कटाक्ष बोलीं- हाई सोसायटी के बच्चे पूछते हैं- माल है क्या?

सिंघवी ने कहा कि सीबीआई जांच के लिए राज्य की सहमति जरूरी है और इसके अलावा अपवाद स्वरूप यह केवल हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट की अनुमति से हो सकता है. उन्होंने कहा कि कि ट्रांसफर याचिका के संबंध में मामलों का उछालना आश्चर्यजनक था, क्योंकि सभी रिपोर्टर, एंकर, वकील-न्यायाधीश और निर्णायक समिति बन गए. मैं नहीं जानता कि उनकी मौत हत्या थी या आत्महत्या, लेकिन मैं इतना जरूर कह सकता हूं कि सीआरपीसी की हत्या जरूर हुई है. Also Read - अंकिता लोखंडे के पापा की बिगड़ी तबियत, एक्ट्रेस जल्द ठीक होने की मांग रही है दुआ

सिंघवी ने जोर देकर कहा कि कानून व व्यवस्था विशेष रूप से राज्य के अधीन है और पीड़ित या आरोपी इस पर निर्णय नहीं ले सकता कि मामले की जांच कहां होगी. शीर्ष अदालत दरअसल रिया चक्रवर्ती द्वारा दाखिल ट्रांसफर याचिका पर सुनवाई कर रही है, जिसके तहत वह मामले को पटना से मुंबई स्थानांतरित करवाना चाहती थी. Also Read - अनुराग कश्यप और कंगना रनौत में तीखी बहस, बोले- तू ही है इकलौती मणिकर्णिका- 'चीन पर कर लें चढ़ाई'