मुंबई: बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस (Sushant Singh Rajput Suicide Case) की जांच अब तेज़ी से हो रही है. मुंबई और बिहार पुलिस दोनों अपने अपने तरीकों से इस गुत्थी को सुलझाने की कोशिश कर रहे हैं. अब मुंबई पुलिस ने एक जानकारी साझा की है जो होश उड़ा देने वाली है. मुंबई पुलिस ने बताया कि दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने मृत्यु और मानसिक विकार से संबंधित कई शब्दों को गूगल पर सर्च किया था. सुशांत 14 जुलाई को अपने बांद्रा स्थित आवास पर फांसी के फंदे से लटके हुए मिले थे. Also Read - गर्लफ्रेंड के साथ समय बिताने के लिए कोरोना पॉजिटिव बता 'लापता' हो गया शख्स, पत्नी को हुआ शक और फिर...

मुंबई के पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह के अनुसार, सुशांत ने गूगल पर दर्द रहित मौत, सिजोफ्रेनिया और बाइपोलर डिसऑर्डर जैसे शब्दों को सर्च किया था. कमिश्नर सिंह ने सोमवार को मीडिया से बातचीत के दौरान इस बात का खुलासा किया. जानकारी साझा करते हुए विख्यात फोटोग्राफर विरल भयानी ने इंस्टाग्राम पर पोस्ट किया, “आयुक्त परम बीर सिंह ने आज प्रेस को कुछ बातें बताईं.” Also Read - कंगना रनौत को जुर्माने की रकम नहीं देना चाहती BMC, बंबई हाईकोर्ट में दी यह दलील...

  Also Read - अंकिता लोखंडे के पापा की बिगड़ी तबियत, एक्ट्रेस जल्द ठीक होने की मांग रही है दुआ

View this post on Instagram

 

Mumbai Police Commissioner Param Bir Singh today revealed few things to the press. Sushant would search for articles and his name on Google to find out what was being written about him. He would also search for “painless death”, “schizophrenia” and “bipolar disorder”. During the press conference, the Mumbai Police Commissioner also said, “All bank statements from January 2019 to June 2020 have been analysed. There were around Rs 14.5 crore credit in the account.” The top cop also mentioned that there is a fixed deposit of 4 crores too. #sushantsinghrajput #mumbaipolice . . #viralbhayani @viralbhayani

A post shared by Viral Bhayani (@viralbhayani) on

उन्होंने लिखा, “सुशांत ने गूगल पर आर्टिकल और अपने नाम को खोजा था, ताकि यह पता लगाया जा सके कि उनके बारे में क्या लिखा जा रहा है. उन्होंने दर्द रहित मौत, सिजोफ्रेनिया और बाइपोलर डिसऑर्डर के बारे में भी सर्च किया. प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मुंबई पुलिस ने भी बताया, “जनवरी 2019 से जून 2020 तक के सभी बैंक स्टेटमेंट का विश्लेषण किया गया है. खाते में लगभग 14.5 करोड़ रुपये जमा थे. शीर्ष पुलिस अधिकारी ने यह भी उल्लेख किया कि चार करोड़ रुपये का सावधि जमा (फिकस्ड डिपॉजिट) भी है.”