बॉलीवुड अभिनेत्री सुष्मिता सेन का कहना है कि यौन उत्पीड़न के खिलाफ ‘#MeToo’ अभियान तभी काम करेगा, जब लोग पीड़ितों की आवाज सुनेंगे. सामाजिक मुद्दों पर बेबाक राय रखने के लिए लोकप्रिय सुष्मिता ने मीडिया को दिए बयान में यह बात कही. सुष्मिता ने कहा, “भले ही इस अभियान को पश्चिमी देशों से लिया गया हो, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि हम इसे नजरअंदाज कर दें. यह देखकर बेहद अच्छा लग रहा है कि महिलाएं आगे आकर अपने शोषण के खिलाफ आवाज उठा रही हैं.”

अभिनेत्री ने कहा, “समाज का हिस्सा होने के नाते लोगों को पीड़ितों की कहानियां सुननी चाहिए न कि उन्हें आंकना चाहिए. उन्हें नजरअंदाज करने के बजाए प्रेरित किया जाए. यह अभियान तब ही काम करेगा, जब हम पीड़ितों की बात सुनना शुरू करेंगे.” सुष्मिता राजधानी दिल्ली में गुरुवार को लोटस मेक-अप इंडिया फैशन वीक में डिजाइनर भूमिका और ज्योति के लिए शोस्टापर के रूप में हिस्सा लेने के लिए मौजूद थीं.

बता दें कि सुष्मिता सेन से पहले भी कई स्टार्स इस अभियान को अपना समर्थन दे चुके हैं. बॉलीवुड सुपरस्टार आमिर खान ने डायरेक्टर सुभाष कपूर पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगने के बाद गुलशन कुमार की बायोपिक मुगल को छोड़ने का फैसला किया है. इस ट्वीट में आमिर की पत्नी किरण राव का भी जिक्र है. आमिर ने लिखा, ”क्रिएटिव शख्सियत होने के नाते हम सामाजिक जगत में उठी समस्याओं का समाधान निकालने में विश्वास रखते हैं. आमिर खान प्रोडक्शंस हमेशा से यौन उत्पीड़न के प्रति जीरो टॉलरेंस पॉलिसी अपनाता आया है.”

इसके अलावा ट्वीट में लिखा है, ”हम हर तरह के यौन उत्पीड़न की कड़ी निंदा करते हैं साथ ही साथ गलत तरीके से लगाए गए आरोपों की भी निंदा करते हैं. हम कोई अदालत नहीं है ना किसी तरह की कोई न्याय व्यवस्था हैं. बिना आरोप साबित हुए हम किसी पर भी कोई बयान नहीं दे सकते लिहाजा आरोप सिद्ध होने तक हमने इस फिल्म से हटने का फैसला किया है.”