Tandav Controversy Supreme court Rejects Plea For Protection to web series makers saif ali khan ali abbas zafar- सैफ अली खान स्टारर वेब सीरीज तांडव पर मचे बवाल के बाद लोग वेब फिल्मों में अश्लीलता और धर्म विरोधी बातों पर अपना गुस्सा निकाला. तांडव के निर्माता, लेखक और अभिनेता के खिलाफ देश भर में दर्ज FIR भी दर्ज की गई.Also Read - Katrina Kaif की शादी के बाद इस विदेशी हसीना को डेट कर रहे हैं Salman Khan? इंटरनेट पर वायरल हुई Photo

अब मेकर्स के लिए बड़ी खबर है कि बुधवार को मामले पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म के कलाकारों को एफआईआर से राहत देने या अंतरिम जमानत देने से इनकार कर दिया है. कोर्ट ने ये भी कहा कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता असीमित नहीं है. Also Read - कमरा बंद करके कैटरीना कैफ को Kiss कर रहे थे गुलशन ग्रोवर, अमिताभ बच्चन ने रंगे हाथ पकड़ा तो...

Also Read - Madhuri Dixit के प्यार में पड़ गए थे Govinda? इश्क़ में थे दीवाने, शादी के लिए कर दिया था प्रपोज मगर...

किस डायलॉग पर है बवाल?
ऐसा ही कुछ हालिया रिलीज वेब सीरीज तांडव में भी है. इसमें कई ऐसे सीन है जिससे हिन्दुओं की धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं. हिंदू देवी-देवताओं का उपहास किया गया है साथ ही दलितों का भी मजाक उड़ाया गया है. भगवान शिव का कथित रूप से उपहास किया गया है. वेब सीरीज के एक एपिसोड में जीशान अय्यूब गवान शिव के अवतार में हैं और वो इस दौरान यूनिवर्सिटी के छात्रों के सामने भाषण देते हैं औऱ कहते हैं कि ‘आपको किससे आजादी चाहिए. जिसके बाद नारद के वेश में एक मंच संचालक कहता है, ‘नारायणनारायण. प्रभु कुछ कीजिए. मुझे लगता है कि हमें भी कुछ नई स्ट्रेटेजी बना ही लेनी चाहिए’. इस पर शिव के रूप में नजर आ रहे जीशान अय्यूब कहते हैं, ‘क्या करूं मैं तस्वीर बदल दूं क्या’ इस पर मंच संचालक कहता है कि भोलेनाथ आप तो बहुत ही भोले हैं’.

तांडव के इस डायलॉग पर बवाल मचा है. लोग आहत है. शिव का ये रुप और भगवान श्री राम के बारे में इस तरह के शब्दों से भक्तों की भावनाओं को ठेस पहुंची है