मुंबई: विवादास्पद वेब सीरीज ‘तांडव’ से कम से कम दो दृश्य हटा दिए गए हैं. लेकिन बुधवार को इसने खुद को और अधिक संकट में घिरा पाया क्योंकि इस बार इसके निर्माताओं के खिलाफ मध्य प्रदेश में एक प्राथमिकी दर्ज कराई गई है, जबकि महाराष्ट्र में एक अन्य दर्ज की जा सकती है. सीरीज की प्रथम कड़ी ‘तानाशाह’ से दो दृश्य हटा दिये गए हैं, जिनमें मुख्य किरदारों के बीच बातचीत का एक दृश्य भी शामिल है. Also Read - Tandav Case: सुप्रीम कोर्ट ने कहा, "कई बार अश्लील कंटेंट दिखाते हैं कुछ OTT प्लेटफॉर्म, स्क्रीनिंग जैसा कोई नियम बनाए केंद्र"

उल्लेखनीय है कि एक दिन पहले ही अमेजन प्राइम वीडियो की इस सीरीज के निर्माताओं एवं कलाकारों ने एक बार फिर से माफी मांगी थी और कहा था कि उन्होंने इस संबंध में चिंताओं को दूर करने के लिए कुछ बदलाव करने का फैसला किया है. इस सीरीज को लेकर विवाद के केंद्र में वह दृश्य है, जिसमें हिंदू देवी-देवताओं के खिलाफ कथित तौर पर आपत्तिजनक टिप्पणी की गई है. इस दृश्य में भगवान शिव का किरदार निभा रहे जीशान अयूब और नारद मुनि के बीच एक संवाद को लेकर आपत्ति जताई गई थी. Also Read - Amazon Prime apologises for Tandav: वेब सीरीज 'तांडव' के मेकर्स ने मांगी माफी, बोले-देवी-देवताओं के अपमान का मकसद नहीं था

यह दृश्य हटा दिया गया है. अब जीशान दर्शकों की तालियों के बीच भगवान शिव के वेश में मंच पर आते दिख रहे हैं और इसबीच, परिसर में पुलिस द्वारा एक छात्र को गिरफ्तार किये जाने को दिखाया जाना शुरू हो जाता जाता है. साथ ही, सीरीज में प्रधानमंत्री देवकी नंदन सिंह के संवाद में दलित नेता कैलाश कुमार का अपमान करने वाले दृश्य को भी हटा दिया गया है. इसमें सिंह का किरदार तिगमांशु धूलिया, जबकि कुमार का किरदार अनूप सोनी निभा रहे हैं. सिंह और संध्या मृदुल के संध्या किरदारों के बीच दृश्य को भी छोटा कर दिया गया है. Also Read - Mastram Fame Kenisha Awasthi ने बताया अपना दर्द, लोग कहते थे-बड़े लोगों के यहां हाजिरी लगाया करो...काम मिलेगा

हालांकि, इसके बावजूद भी सीरिज पर संकट गहराता जा रहा है. इस सीरीज का निर्देशन अली अब्बास जफर ने किया है. इसमें बॉलीवुड अभिनेता सैफ अली खान, डिंपल कपाडिया और मोहम्मद जीशान अयुब ने अभिनय किया है. इस बीच, महाराष्ट्र राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा है कि राज्य पुलिस को विवादास्पद वेब श्रृंखला ‘‘तांडव’’ के बारे में एक शिकायत मिली है.

देशमुख ने यहां पत्रकारों से बातचीत में मांग की कि केन्द्र सरकार को ‘ओवर द टॉप (ओटीटी) मंचों पर सामग्री को विनियमित करने के लिए एक कानून लाना चाहिए. देशमुख ने कहा, ‘‘हमें शिकायत मिली है. हम प्राथमिकी (एफआईआर) दर्ज करेंगे और औपचारिक रूप से कार्रवाई करेंगे.’’

उन्होंने यह नहीं बताया कि शिकायत किसने दर्ज कराई है. वहीं, उत्तर प्रदेश की चार सदस्यीय एक टीम बुधवार को मुंबई पहुंची. उत्तर प्रदेश में तीन प्राथमिकी दर्ज की गई है. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. टीम के सीरीज के निर्माता, निर्देशकों और कलाकारों के बयान दर्ज करने की संभावना है. उन पर हिंदू देवी-देवताओं के अपने चित्रण के जरिए धार्मिक भावनाएं आहत करने के आरोप हैं.

अधिकारियों ने बताया कि उत्तर प्रदेश पुलिस के कर्मी सुबह मुंबई पहुंचे और वे मदद के लिए उपनगरीय अंधेरी में पुलिस उपायुक्त (डिटेक्शन -1) के कार्यालय गये. उधर, मध्यप्रदेश पुलिस ने ‘‘तांडव’’ के निर्माताओं के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है. पुलिस ने इसकी जानकारी दी . जबलपुर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) अमित कुमार ने बुधवार को बताया कि वेब सीरीज ‘‘तांडव’’ के निर्देशक और अन्य के खिलाफ समाज के विभिन्न धार्मिक समूहों के बीच वैमनस्य को बढ़ावा देने और धार्मिक भावनाओं को नाराज़ करने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज की गयी. प्राथमिकी में दर्ज शिकायत की पुलिस जांच कर रही है.’’

इस बीच, मध्यप्रदेश विधानसभा के अस्थायी अध्यक्ष रामेश्वर शर्मा ने भी महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर मुंबई में भाजपा के विधायक राम कदम की शिकायत पर तांडव के निर्माताओं के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने की मांग की है. उत्तर प्रदेश में सीरीज के खिलाफ लखनऊ, ग्रेटर नोएडा और शाहजांपुर में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मीडिया सलाहकार शलभमणि त्रिपाठी ने सोमवार को कहा था कि ‘‘तांडव’’ के निर्माताओं को धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने की कीमत चुकानी पड़ेगी. उन्होंने बताया था कि उत्तर प्रदेश पुलिस के चार सदस्य मामले की विस्तृत जांच के लिए मुंबई रवाना हो गये हैं. इस मामले में हजरतगंज पुलिस थाने में एक प्राथमिकी दर्ज की गई थी.

सीरीज के खिलाफ मुख्य रूप से भाजपा नेताओं ने अपने विरोध के स्वर उठाये हैं, वहीं निर्देशक हंसल मेहता और अदाकारा स्वरा भास्कर को छोड़ कर सिने जगत की मुख्यधारा के शखिसयत लगभग चुप रहे हैं. स्वरा ने मंगलवार को ट्वीट किया, ‘‘मैं एक हिंदू हूं और तांडव के किसी दृश्य से मैं आहत नहीं हुई हूं…तांडव सीरीज पर पाबंदी क्यों लगाया जाए? ’’ तांडव सीरीज पिछले शुक्रवार से अमेजन प्राइम वीडियो पर दर्शकों के लिए उपलब्ध कराई गई है.