अभिनेत्री अमृता राव का कहना है कि वह पर्दे पर प्रेम-प्रसंग वाले दृश्य करने में असहज महसूस करती हैं. अमृता ने फिल्म ‘ठाकरे’ के साथ लंबे समय बाद वापसी के बारे में बात की और यह भी बताया कि वह ‘लव-मेकिंग’ सीन्स का हिस्सा बनना पसंद क्यों नहीं करतीं. उन्होंने कहा, सिनेमा बदल रहा है और इसके साथ ऑन-स्क्रीन किसिंग, लव-मेकिंग सीन कहानी का हिस्सा बन रहे हैं. उन्होंने कहा, मैं यह नहीं कह रही हूं कि यह गलत है, क्योंकि यह इस बात का प्रतिबिंब है कि हमारा समाज कैसे बदल गया है और इसके साथ सहज हो गया है. लेकिन मैं स्क्रीन पर यह करने में असहज हूं.

 

View this post on Instagram

 

A post shared by AMRITA RAO (@amrita_rao_insta) on

लव-मेकिंग मेरे लिए इतना व्यक्तिगत है कि पर्दे पर ऐसा करने के लिए तो मुझे अपनी आत्मा का एक हिस्सा छोड़ना पड़ेगा. मैं ऐसा नहीं कर सकती. उनके अनुसार, यह सही या गलत का सवाल नहीं है, यह केवल हम क्या विकल्प चुनते हैं इसकी बात है. अमृता ने यह भी कहा कि वह अभिनेता आयुष्मान खुराना के साथ काम करना पसंद करेंगी क्योंकि वह ‘उन्हें स्क्रीन पर देखना बहुत पसंद करती हैं.

 

View this post on Instagram

 

With my Lovely Co-Star @nawazuddin._siddiqui …#thackeraypromotions Watch @thackeraythefilm On #25thjanuary

A post shared by AMRITA RAO (@amrita_rao_insta) on

बता दें कि अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी और अमृता राव अभिनीत फिल्म ‘ठाकरे’ ने अपनी रिलीज के पहले दिन बॉक्स ऑफिस पर छह करोड़ रुपये कमाए हैं. फिल्म के निर्माताओं ने एक बयान जारी कर कहा, ‘ठाकरे’ ने पहले दिन करीबन छह करोड़ रुपये कमाए हैं. फिल्म में नवाजुद्दीन ने बालासाहब और अमृता राव ने बालासाहब की पत्नी दिवंगता मीनाताई का किरदार निभाया है.