द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर (The Accidental Prime Minister) का ट्रेलर रिलीज होने के बाद से ही ये फिल्म विवादों के घेरे में है. बॉलीवुड के जानकारों का मानना है कि विवाद से फिल्म को लेकर दर्शकों के मन में उत्सुक्ता बढ़ेगी जिसका फायदा फिल्म को बॉक्स ऑफिस कलेक्शन के रूप में देखने को मिलेगा. कांग्रेस का कहना है कि ये फिल्म राजनैतिक दुश्मनी निकालने के लिए बनाई गई है ताकि कांग्रेस की छवि को खराब किया जा सके. Also Read - बराक ओबामा ने राहुल गांधी को बता दिया नर्वस नेता, सोनिया गांधी के लिए लिखी ये बात...

Also Read - Happy Birthday Dr ManMohan Singh: कम शब्दों में अपनी बात कहनेवाले देश के इस Ex PM का नहीं है कोई जोड़, जानिए

Also Read - बॉलीवुड अभिनेता और सांसद अयोध्या की रामलीला में निभाएंगे किरदार, टीवी पर होगा लाइव प्रसारण
View this post on Instagram

Making of #DrManmohanSingh: This is a 20sec time lapse video of a two hour job done by my great make and wardrobe team. Thank you dearest Abhilasha for your brilliant costume design, #SurindrasNaturalHairTeam Bala, Pranay, Deepak, Rishi, Mangesh and Jaspreet. I couldn’t have done this role without you. 🙏😍 #TheAccidentalPrimeMinister #SwipeLeft @tapmofficial

A post shared by Anupam Kher (@anupampkher) on

वहीं बीजेपी का कहना है कि ये फिल्म कांग्रेस के असली रूप को सामने लाएगी. फिल्म के ट्रेलर में सोनिया गांधी को निगेटिव रोल में दिखाया गया है. इस सब के बीच फिल्म मेकर्स ने फिल्म से जुड़ा एक मेकिंग वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया है जिसमें अनुपम खेर का मेकओवर दिखाया गया है. अनुपम खेर ने अपने ऑफिशियल इंस्टाग्राम अकाउंट पर इस वीडियो को एक दिन पहले शेयर किया जिसे अभी तक 80 हजार से ज्यादा लोग देख चुके हैं.

अमुपम खेर ने बताया कि उन्हें मनमोहन सिंह के रूप मे आने के लिए घंटों का समय लगता था. फिल्म में मेकअप आर्टिस्ट की मेहनत को आप साफ तौर पर देख सकते हैं. जिस भी शख्स ने इस वीडियो को देखा वह कमेंट किए बिना नहीं रह सका. ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ में मनमोहन सिंह के किरदार में अनुपम खेर और संजय बारू के किरदार में अक्षय खन्ना नजर आएंगे. ये फिल्म 11 जनवरी को रिलीज होगी.

हाल ही में दिल्ली हाईकोर्ट ने ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ के ट्रेलर पर प्रतिबंध लगाने की याचिका को खारिज कर दिया. न्यायाधीश विभू बाखरू ने पाया कि दिल्ली की फैशन डिजाइनर पूजा महाजन का इस मामले से व्यक्तिगत रूप से कोई संबंध नहीं है. वकील अरुण मैत्री के जरिए महाजन द्वारा दायर याचिका में कहा गया था कि ट्रेलर ने भारतीय दंड संहिता की धारा 416 का उल्लंघन किया है क्योंकि कानून में जीवित चरित्र या जीवित व्यक्ति का प्रतिरूपण करना स्वीकार्य नहीं है.

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.