बॉलीवुड एक्ट्रेस यामी गौतम की हालिया रिलीज फिल्म ‘उरी : द सर्जिकल स्ट्राइक’ ने 100 करोड़ रुपये की कमाई का आंकड़ा पार कर लिया है और इस सफलता को उन्होंने भारतीय सेना और उनके परिवारों को समर्पित किया है. फिल्म जम्मू एवं कश्मीर के उरी में आतंकवादी हमले के बाद 2016 में भारतीय सेना द्वारा अंजाम दी गई सर्जिकल स्ट्राइक पर बेस्ड है. Also Read - Bhoot Police Releasing Date: फिल्म 'भूत पुलिस' इस दिन होगी बड़े पर्दे पर रिलीज, हॉरर और कॉमेडी का तड़का  

Also Read - यामी गौतम पहली बार पर्दे पर निभा रही हैं ऐसा किरदार, कहा- बॉडी लैंग्वेज की बारीकियों पर...

  Also Read - कभी बैकग्राउंड आर्टिस्ट हुआ करती थीं 'Uri' एक्ट्रेस यामी गौतम, इस टीवी सीरियल से शुरू किया था सफर

View this post on Instagram

 

Seeing you all flocking at the theatres is getting us both full of JOSH !! @vickykaushal09 @adityadharfilms @merainna @kirtikulhari @pareshrawal_ @miteshdop @zeemusiccompany @shashwatology @soniyeah22 @hardik.sadhwani

A post shared by Yami Gautam (@yamigautam) on

यामी ने कहा, “यह मायने नहीं रखता कि हमारे अंदर हमारी सेना के प्रति कितनी कृतज्ञता है, क्योंकि जितनी भी होगी, वह कम होगी. फिल्म की शूटिंग और प्रचार के दौरान मुझे हर दूसरे दिन सेना के जवानों से मिलने का सौभाग्य मिलता था. उनके जरिए मुझे कठिन परिश्रम के असल मायने समझ आए. उनकी ईमानदारी, कठिन परिश्रम और त्याग ने मुझे फिल्म में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए प्रेरित किया.”

 

View this post on Instagram

 

URI-THE SURGICAL STRIKE 🙏🏻🇮🇳 #releasestoday

A post shared by Yami Gautam (@yamigautam) on

यामी ने कहा कि सेना देशभक्ति के वास्तविक अर्थ को परिभाषित करती है. उनके लिए कर्तव्य से बढ़कर और कुछ नहीं है. वे हमेशा हमारे देश की सेवा करते हैं. नवोदित आदित्य धर के निर्देशन में बनी फिल्म ‘उरी : द सर्जिकल स्ट्राइक’ में यामी के साथ विक्की कौशल भी शामिल हैं. 2016 के प्रतिष्ठित सर्जिकल स्ट्राइक पर आधारित, आदित्य धर के निर्देशन में बनी उरी में पाकिस्तान के आतंकवादी ठिकानों के खिलाफ भारतीय सेना की वीरता को दर्शाया गया है. भारतीय सेना के इतिहास में पहली बार, हमारे देश ने एक दुश्मन पर हमला करने की पहल की थी, जिससे यह जंग और अधिक विशेष हो गई थी.

सर्जिकल स्ट्राइक में जिस तरह भारतीय सेना ने आतंकवादियों का सफाया करने के लिए दुश्मनों की भूमि में प्रवेश किया था, ठीक ऐसा हमला साल 2011 में देखा गया था जहां अमेरिकी सेना के अधिकारियों ने ओसामा बिन लादेन के क्षेत्र में प्रवेश कर के उसे मार डाला था. 2011 के अमेरिकी हमले को उजागर करते हुए, फिल्म “ज़ीरो डार्क थर्टी” को वास्तविक जीवन की घटना के भयंकर और प्रामाणिक चित्रण को पेश करने के लिए दुनिया भर से सराहना प्राप्त हुई थी.

बॉलीवुड और मनोरंजन जगत की ताजा ख़बरें जानने के लिए जुड़े रहें  India.com के साथ.