पुणे: मशहूर अभिनेता डॉ. श्रीराम लागू का वृद्धावस्था से संबंधित बीमारियों के चलते मंगलवार शाम पुणे स्थित उनके आवास पर निधन हो गया. वह 92 वर्ष के थे. उनके परिवार के सूत्रों ने यह जानकारी दी. नाटककार सतीश अलेकर ने बताया कि मैंने उनके दामाद से बात की. वृद्धावस्था संबंधित बीमारियों के कारण उनका निधन हुआ. प्रशिक्षित ईएनटी सर्जन लागू ने विजय तेंदुलकर, विजय मेहता और अरविंद देशपांडे के साथ आजादी के बाद वाले काल में महाराष्ट्र में रंगमंच को आगे बढ़ाने में अहम भूमिका निभाई थी.

 

श्रीराम लागू हिन्दी फ़िल्मों के एक अभिनेता थे. उन्होंने हिंदी और मराठी में एक भारतीय फिल्म और थियेट्रक्टर है और एक ईएनटी सर्जन भी थे. उन्हें फिल्मों में उनकी चरित्र भूमिकाओं के लिए जाना जाता था. उन्होंने 100 से अधिक हिंदी और मराठी फिल्मों में, 40 से अधिक मराठी, हिंदी और गुजराती नाटकों में अभिनय किया और 20 से अधिक मराठी नाटकों का निर्देशन किया था. उन्होंने हिंदी फ़िल्म घरौंदा के लिए 1978 का फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता का पुरस्कार जीता था. उनकी आत्मकथा का शीर्षक था लमन (लामा), जिसका अर्थ है “माल का वाहक”.