नई दिल्ली: मनोरंजन और सिनेमा जगत पर ये साल काल की तरह मंडरा रहा है. लगातार हो रहे निधन से बॉलीवुड शोक में डूबा हुआ है. अब ‘छोटी-सी बात’ और ‘रजनीगन्धा’ जैसी अनुभवी फिल्मों के निर्माता बासु चटर्जी (Basu Chatterjee Passes away) का बृहस्पतिवार को 93 साल की उम्र में निधन हो गया. इंडियन फिल्म एंड टेलीविजन डायरेक्टर्स एसोसिएशन (आईएफडीटीए) के अध्यक्ष अशोक पंडित ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘उन्होंने सुबह के समय नींद में ही शांति से अंतिम सांस ली. वह उम्र संबंधी दिक्कतों के कारण पिछले कुछ समय से ठीक नहीं चल रहे थे और उनके आवास पर ही उनका निधन हुआ. यह फिल्म उद्योग के लिए भारी क्षति है.’

प्रोड्यूसर अशोक पंडित (Ashoke Pandit) ने ट्वीट कर बासु चटर्जी की मौत की खबर की पुष्टि की. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, “बहुत दुःख के साथ बताना पड़ रहा है कि लीजेंडरी फिल्ममेकर बासु चटर्जी हम सबको छोड़ कर चले गए हैं. उनका अंतिम संस्कार आज दोपहर 2 बजे सांताक्रूज श्मशान में किया जाएगा. यह फिल्म उद्योग के लिए भारी क्षति है. आप याद आओगे सर”.

बता दें कि बासु चटर्जी ने अपने करीयर में ऐसी कई फिल्में बनाई थी जो हमेशा के लिए लोगों के दिलों में ज़िंदा रहेगा. उन्हें 7 बार फिल्म फेयर अवॉर्ड और दुर्गा के लिए 1992 में नेशनल फिल्म अवॉर्ड से नवाज़ा गया था. ‘उस पार’, ‘चितचोर’, ‘पिया का घर’, ‘खट्टा मीठा’ और ‘बातों बातों में’ जैसी फिल्मों से इस निर्माता ने अपनी अलग पहचान बना ली थी.