सिडनी: मशहूर सिंगर (रैपर) कार्डी बी ने फ्रीलांस फोटो पत्रकारों नस्लवादी होने का आरोप लगाया है कार्डी बी का कहना है कि ऑस्ट्रेलियाई पापाराजी (फ्रीलांस फोटो पत्रकारों) द्वारा उनके ऊपर की गई नस्लवादी टिप्पणी उन पर ‘फिट’ नहीं बैठती है मैं किसी की गुलाम नहीं. रैपर ने अपनी बात Instagram पर साझा की.

बता दें कि 26 वर्षीय रैपर नए साल की छुट्टियां मनाने शनिवार को सिडनी पहुंची, जहां उनका फोटोग्राफरों के झुंड ने स्वागत किया. वे उस समय फोटो खिंचवाने या साक्षात्कार देने के मूड में नहीं थी. इसलिए उन्होंने कंबल से अपना चेहरा ढंक लिया. उनके साथ उनकी प्रचारक और पुरुष सहयोगी था, जो सामान के साथ टर्मिनल से बाहर निकलने में उनकी मदद कर रहा था. फेमस सिंगर कार्डी बी ने गत वर्ष गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी अपना नाम दर्ज कराया है. बिलबोर्ड 100 सांग्स बॉय अ वुमन लिस्ट में एक ही समय पर उनके 13 गाने शामिल थे. इस उपलब्धि के लिए कार्डी बी का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में जोड़ा गया.

कादर खान के निधन की खबर सुनते ही रो पड़े अमिताभ बच्चन, सेलेब्रिटीज ने दी श्रद्धांजलि

ऑस्ट्रेलिया में हमारे नियम चलते हैं
ईऑनलाइन डॉट कॉम की रिपोर्ट के मुताबिक छुट्टियां मनाने आई कार्डी बी की तस्वीरें और वीडियो लेने के लिए इंतजार कर रहे फोटोग्राफरों को सिंगर का यह रवैया (चेहरा ढंकना)पसंद नहीं आया. एक फोटोग्राफर ने कार्डी से चिल्लाकर कहा, “आप अब सिडनी में हो, दोस्त, आप ऑस्ट्रेलिया में हो. यहां हमारे नियम चलते हैं, आपके नहीं, साथी.”

ये उनका रवैया है
जब कार्डी अपना चेहरा ढंगे पापाराजी से बचकर निकल रही थी, तो एक महिला फोटोग्राफर ने उनसे कहा, “कोई आश्चर्य नहीं है कि आपके पति ने आपको क्यों छोड़ा.” एक हफ्ते पहले ही रैपर ने घोषणा की थी कि वे और उनके पति ऑफसेट शादी के एक साल बाद अलग हो रहे हैं. कार्डी की प्रचारक ने इससे नाराज होकर उस महिला को धमकाया और अपने जुबान पर लगाम रखने को कहा. कार्डी बी ने बाद में इंस्टाग्राम पर कहा, “वह उम्रदराज महिला मुझसे फोटो खिंचवाने के लिए कह रही थी, लेकिन मैं अपना मुंह ढंके थी. लेकिन एकाएक उसने मेरा अनादर करते हुए कुछ असभ्य बातें कही. जब मेरी प्रचारक ने उसे जवाब दिया तो वह पीड़ित होने का नाटक करने लगी और कहने लगी, ओ माई गॉड. ओ माई गॉड.” उन्होंने आगे कहा, “लेकिन इसने मुझे परेशान नहीं किया. वहां के गोरे लोग मुझ पर नस्लवादी टिप्पणियां कर रहे थे. मैं उनकी गुलाम नहीं हूं कि उनके कहने के हिसाब से काम करूं. वे उनका अन्य रंग के लोगों के प्रति रवैया है.”


View this post on Instagram

A post shared by CARDIVENOM (@iamcardib) on