लेखक-प्रोड्यूसर विनता नंदा ने बुधवार को अभिनेता आलोक नाथ के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. नंदा ने आलोक नाथ पर 19 साल पहले उनका यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है. नंदा ने एक बयान में कहा कि ओशिवाड़ा पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई गई है. नंदा ने कहा, “पुलिस बहुत सहयोगी रही और उन्होंने मेरा बयान लिया. अपना बयान दर्ज कराना मेरे लिए आसान नहीं था क्योंकि यह अपने दर्द को दोबारा से जीने जैसे था. हमने आलोक नाथ के खिलाफ लिखित शिकायत दी है.” Also Read - 'MeToo' पर बनी फिल्म में आलोकनाथ बनेंगे जज, विंता नंदा ने दिया ये बयान

अभिनेता आलोक नाथ ने इस मामले में भारतीय फिल्म एवं टेलीविजन निर्देशक संघ (आईएफटीडीए) द्वारा उन्हें जारी किए गए नोटिस का जवाब देने से इनकार कर दिया हैं. उन्होंने नंदा के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर कर लिखित माफी और प्रतीकात्मक रूप से एक रुपए के मुआवजे की मांग की है. Also Read - यौन उत्पीड़न के आरोप में घिरा ये अमेरिकी रैपर, सोशल मीडिया पर दिखा लोगों का गुस्सा

नंदा के वकील ने सोमवार को कहा था कि उनकी मुवक्किल यौन उत्पीड़न के खिलाफ अपनी लड़ाई में निडर बनी रहेंगी, चाहे उन्हें मानहानि मुकदमे का सामना ही क्यों न करना पड़े. अपने साथ हुए सबसे बुरी घटना का जिक्र करते हुए नंदा ने कहा कि एक बार वह आलोक नाथ के घर पर हुई पार्टी में शामिल हुई और वहां से देर रात दो बजे के करीब घर जाने के लिए निकलीं. उनके ड्रिंक में कुछ मिला दिया गया था.नंदा ने कहा, “मैं घर जाने के लिए खाली सड़क पर पैदल ही चलने लगी. रास्ते में उस शख्स ने गाड़ी रोकी, जो खुद चला रहा था और कहा कि मैं उनकी गाड़ी में बैठ जाऊं, मुझे घर छोड़ देगा. मैं उस पर विश्वास करके गाड़ी में बैठ गई.” Also Read - #MeToo: रेप के आरोपी आलोकनाथ की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, अब आया ये फैसला

नंदा ने कहा, “इसके बाद मुझे बेहोशी सी छाने के चलते हल्का-हल्का याद है. मुझे याद है कि मेरे मुंह में और ज्यादा शराब डाली गई और मेरे साथ काफी हिंसा की गई. अगले दिन जब दोपहर को मैं उठी, तो मैं काफी दर्द में थी. मेरे साथ सिर्फ दुष्कर्म ही नहीं किया गया था बल्कि मुझे मेरे घर ले जाकर मेरे साथ नृशंस व्यवहार किया गया था.”