हिंदी सिनेमा की सदाबहार अभिनेत्री वहीदा रहमान (waheeda rehman) का 3 फरवरी को बर्थडे है उनका जन्म तमिलनाडु में हुआ था. वे 82 साल की हो चुकी हैं. जब भी वहीदा की बात होती है, फैंस को उनकी फिल्म गाइड की याद आती है. वो घर में बजते घुंघरू की आवाज़ें. दिल पर लगते पड़ोसियों के ताने. दर्द और उम्मीद में पनपते प्यार की कहानी. इस फिल्म में वहीदा रहमान और देवानंद की जोड़ी लोगों को खूब पसंद आई थी. इसके लिए उन्हें बेस्ट एक्ट्रेस के अवार्ड से भी नवाजा गया था. ये दिग्गज अभिनेत्री बचपन से ही डॉक्टर बनने का ख्वाब देखा करती थी लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था.Also Read - Munmun Dutta ने शॉर्ट ड्रेस में कराया बोल्ड फोटोशूट, तारक मेहता का उल्टा चश्मा की 'बबीता जी' की तस्वीरों से नजरें नहीं हटा सकेंगे!

Video: शिल्पा शेट्टी ने चबाई सैंडल की ऊंची हील, फैंस से पूछा-जूता खाओगे? Also Read - 55 की उम्र में भी आखिर क्या है 'धक-धक गर्ल' Madhuri Dixit की खूबसूरती का राज? आप भी अपनाएं ये टिप्स

Also Read - ब्वॉयफ्रेंड की बाहों में नजर आईं Hrithik Roshan की एक्स-वाइफ Sussanne Khan, वायरल फोटो ने काटा बवाल

वहीदा के बारे में खास बात कही जाती है कि उन्होंने मशहूर एक्टर गुरु दत्त के साथ तीन साल का कॉन्ट्रेक्ट साइन किया था जिसमें उन्होंने इस शर्त पर काम किया था कि वे फिल्मों में अपनी पसंद के कपड़े पहनेंगी और अगर उन्हें कोई ड्रेस पसंद नहीं आती है तो कोई उनके साथ जबरदस्ती नहीं करेगा. वहीदा ने गुरु की फिल्म सीआईडी में काम किया था. वहीं दोनों एक दूसरे के करीब आए. गुरु को वहीदा अच्छी लगने लगी थीं. लेकिन गुरु पहले से शादीशुदा थे. उनकी शादी गीता बाली से हुई थी. लेकिन दोनों की शादीशुदा जिंदगी अच्छी नहीं थी. और जबसे वहीदा गुरु के करीब आईं.वे बदलने लगे थे. वहीदा की मौजूदगी उन्हें अच्छी लगने लगी. इस बात को लेकर गीता और गुरु में झगड़े होने लगे. दोनों अलग अलग रहने लगे. गुरु दत्त गीता और वहीदा में इतना कनफ्यूज हो गए कि उन्हें समझ नहीं आया आखिर वो किसे प्यार करते हैं.

Image result for guru dutt

इन्हीं बातों से परेशान होकर उन्होंने 10 अक्टूबर 1964 को आत्महत्या कर ली. इस खबर से वहीदा सदमे में चली गईं. कहा जाता है गुरु ने उस दिन काफी शराब पीने के बाद नींद की गोलियां खा ली थी.वहीदा को हिन्दी फिल्मों में लाने का श्रेय भी गुरु दत्त को ही था.

Related image