नई दिल्ली: निर्देशक मिलन लुथरिया ने कहा है कि साल 2010 में आई हिट फिल्म ‘वन्स अपॉन अ टाइम इन मुंबई’ (Once Upon a Time in Mumbaai) में अभिनेता अजय देवगन और इमरान हाशमी कम पारिश्रमिक यानी कम फीस पर काम करने को तैयार हो गए थे, क्योंकि उस वक्त आर्थिक मंदी चल रही थी. उन्होंने पुरानी बातों को याद करते हुए कहा, “उस साल अप्रैल में अप्रत्याशित रूप से मुझे एक स्टोरी आइडिया मिली. कहानी अधूरी, लेकिन काफी दिलचस्प थी और मैंने तुरंत बाद फिल्म को साइन कर लिया. मंदी जारी रही और इस मल्टी-स्टारर फिल्म पर काम शुरू करने से पहले इसके बजट पर कई बार समीक्षा की गई.” Also Read - भारत छोड़कर सिंगापुर शिफ्ट हो रही हैं काजोल, जानिए इस बड़े फैसले के पीछे की वजह  

लुथरिया फिल्म में अजय और इमरान को चाहते थे और अपने इस चाहत को वास्तविकता में बदलने के लिए उन्होंने उचित कदम उठाएं. वह कहते हैं, “मंदी की दशा और बिगड़ गई और मुझे अजय व इमरान दोनों से अनुरोध करना पड़ा कि वे बैक एंड प्रॉफिट शेयर के बदले अपनी फीस में कुछ कटौती कर लें.” Also Read - पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन से बॉलीवुड भी सदमे में, कंगना से लेकर अजय देवगन ने जताया शोक 

उन्होंने आगे कहा, “मैं केवल एक शर्त पर इस सोच के साथ आगे बढ़ने पर सहमत हुआ कि मेरी फीस भी आनुपातिक रूप से काटी जाएगी, अन्यथा मेरे लिए एक्टर्स से इस बारे में बात करना अनैतिक होगा.” इस गैंगस्टर ड्रामा फिल्म में अजय, इमरान, कंगना रनौत, रणदीप हुड्डा और प्राची देसाई जैसे कलाकार मुख्य किरदारों में थे. यह फिल्म 30 जुलाई, 2010 को रिलीज हुई थी. Also Read - जिंदगी की जंग में हारे फिल्ममेकर निशिकांत कामत, 50 की उम्र में हुआ निधन