लेखक से अभिनेता बने राजन कुमार की आने वाली फिल्म ‘नमस्ते बिहार’ 9 नवंबर को रिलीज के लिए तैयार है. राजन का कहना है कि विद्या, धर्म, दर्शन और मोक्ष की धरती बिहार पर आधारित यह फिल्म न केवल दर्शकों का मनोरंजन करेगी, बल्कि एक संदेश भी देगी. बहुमुखी प्रतिभा के धनी राजन अभिनेता के साथ साहित्यकार भी हैं. मुंगेर के एक छोटे से नक्सल प्रभावित गांव में पले-बढ़े और ‘चार्ली चैपलिन-2’ के नाम से चर्चित राजन कुमार का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज है.


View this post on Instagram

Happy Diwali! ..

A post shared by Hero RajanKumar (@herorajankumar) on


View this post on Instagram

Jai Hind. …

A post shared by Hero RajanKumar (@herorajankumar) on

राजन ने मीडिया से बातचीत में बताया, “रंगमंच में डिप्लोमा करने के बाद वर्ष 2000 में दिल्ली में एक दोस्त के रेस्टोरेंट के उद्घाटन समारोह में मैंने चार्ली चैपलिन बनकर वहां लोगों का मनोरंजन किया. उसके बाद लोग मुझे चार्ली चैपलिन-2 के नाम से जानने लगे.” बकौल राजन, “अब तक मैं 4000 ज्यादा लाइव शो कर चुका हूं. मेरे शो तीन से 13 घंटे तक के होते हैं. चार्ली चैपलिन-2 के लिए मेरा नाम 2004 में लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्डस और वर्ष 2005 में गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्डस में दर्ज हुआ था.”


View this post on Instagram

Thanks Bhajan Samrat Anoop Jalota Ji for ur Love and care. .

A post shared by Hero RajanKumar (@herorajankumar) on

दिल्ली के नेशनल परेड में तीन बार आर्टिस्ट लीडर के रूप में बिहार और हरियाणा की झांकी पेश कर चुके राजन को वीरता के लिए ‘शूरवीर अवार्ड’ और डॉ. राम प्रसाद सिंह साहित्य पुरस्कार-2018 से सम्मानित किया जा चुका है. ‘शहर मसीहा नहीं’ में बतौर अभिनेता सफल रहे राजन की ‘नमस्ते बिहार’ दूसरी फिल्म है. इस फिल्म के विषय में पूछे जाने पर राजन ने बताया कि यह फिल्म बिहार के एक निडर और बेबाक नवयुवक डब्लू की कहानी है, जो गुमराह होकर अपराध की दुनिया में चला जाता है, मगर वह अपना आदर्श नहीं छोड़ता.