नई दिल्ली: कोरोनावायरस महामारी के चलते पूरी दुनिया रूक सी गई है और हर कोई इससे प्रभावित है. अभिनेत्री यामी गौतम का भी इस बारे में कहना है कि उन्हें नहीं पता कि फिल्मों की शूटिंग फिर से कब शुरू होगी क्योंकि लॉकडाउन के हटने के बाद भी ऐसा नहीं लगता है कि कोविड-19 का अंत हो जाएगा.Also Read - CoronaVirus Guidelines 2022: तीसरी लहर का खतरा बढ़ा! पूरे देश में 31जनवरी तक के लिए जारी किए गए सख्त निर्देश

महामारी के बाद वह मनोरंजन उद्योग के भविष्य को किस तरह से देखती हैं और इंडस्ट्री में बदलाव किस तरीके से आने वाला है? यामी ने एक विशेष बातचीत में इस सवाल का जवाब देते हुए कहा, “बजट पर दोबारा काम किया जाएगा. पहले से ही प्रस्तावित फिल्मों के बजट और माध्यमों पर काम किया जा रहा है क्योंकि थिएटर्स बंद हैं और ये कब खुलेंगे इसका भी कुछ अता-पता नहीं है. बेशक जिन फिल्मों का बजट मध्यम रहा है, उनके पास डिजिटल प्लेटफॉर्म्स पर अपनी फिल्मों को रिलीज करने का एक मौका है.” Also Read - Lockdown In Maharshtra: ओमिक्रॉन के खतरे के बीच महाराष्ट्र में लगेगा Lockdown? स्वास्थ्य मंत्री ने दिया बड़ा बयान

Also Read - Omicron Lockdown: क्रिसमस और न्यू ईयर का जश्न मनाना हो सकता है खतरनाक, तो क्या लग सकता है लॉकडाउन?

यामी का कहना है कि उन्हें इस वक्त केवल डिजिटल क्षेत्र के लिए बनी परियोजनाओं के ही ऑफर मिल रहे हैं. उन्होंने कहा, “मेरे पास फिल्में इस प्रस्ताव के साथ आ रही हैं कि ये डिजिटल प्लेटफॉर्म के लिए ही हैं. यह बदलाव अभी से देखने को मिल रहा है. हमें नहीं पता कि हम शूटिंग कब शुरू करेंगे क्योंकि लॉकडाउन के हटाए जाने के बाद भी यह नहीं लगता कि कोरोनावायरस पर काबू पा लिया जाएगा.”

उन्होंने आगे कहा कि नए दिशा-निर्देश व प्रतिबंध लागू हो सकते हैं. यामी कहती हैं, “हमें अभी भी प्रोटोकॉल्स, सावधानियां और नए दिशा-निदेशरें का पालन करना होगा. हमें फिलहाल बस रूककर इंतजार करना है. सुरक्षा सबसे महत्वपूर्ण चीज है. मुझे नहीं लगता कि चीजें जल्द ही स्वाभाविक होंगी.”

View this post on Instagram

Powder blues💙

A post shared by Yami Gautam (@yamigautam) on

बजट को लेकर अभिनेत्री ने कहा, “विश्व स्तर पर अर्थव्यवस्था पर आए प्रभाव को देखते हुए निश्चित रूप से बजट पर काम किया जा रहा है और इनमें कमी लाई जाएगी. विषय सामग्री की बात करें, तो मैं उम्मीद कर सकती हूं कि लोग इस खाली वक्त का सदुपयोग फिल्मों के लिए अच्छी व नई विचारधारा की कहानियों को लिखने में कर रहे हैं. उम्मीद करती हूं कि इस क्षेत्र में आगे आने वाले समय में हम और सशक्त बनेंगे.”